नई दिल्ली: तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भाजपा ने लोकसभा चुनाव के बाद बड़ा झटका दिया है. मंगलवार को पश्चिम बंगाल के तीन विधायक और 50 से अधिक पार्षद भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. इसमें भाजपा नेता मुकुल राय के पुत्र शुभ्रांशू राय शामिल हैं. लोकसभा चुनाव में प्रभावकारी प्रदर्शन के बाद भाजपा राज्य में अपनी स्थिति और मजबूत बनाने में लगी है.

 

शुभ्रांशू राय को आम चुनाव का परिणाम घोषित होने के बाद पार्टी विरोधी गतिविधियो को लेकर तृणमूल कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया था. पार्टी मुख्यालय में भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल राय की उपस्थिति में ये लोग पार्टी में शामिल हुए. भाजपा नेता अनिल बलूनी ने बताया कि पार्टी में शामिल होने वाले अन्य विधायकों में तृणमूल कांग्रेस के तुषारक्रांति भट्टाचार्य और माकपा के देवेन्द्र नाथ राय शामिल हैं. इसके अलावा कई अन्य पार्षद पार्टी में शमिल हुए .

 

मुकुल राय की भूमिका महत्वपूर्ण
तृणमूल कांग्रेस में सेंध लगाने में मुकुल राय की भूमिका मानी जा रही है. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि पश्चिम बंगाल में भाजपा के शानदार प्रदर्शन में मुकुल राय प्रमुख शिल्पकारों में रहे हैं. भाजपा ने लोकसभा चुनाव में 18 सीटें जीती जबकि तृणमूल कांग्रेस की सीटों की संख्या घटकर 22 पर आ गई .