नयी दिल्ली: नयी लोकसभा में आम आदमी पार्टी (आप) के एकमात्र सांसद भगवंत मान ने शुक्रवार को कहा कि ‘मोदी लहर’ उन्हें हिला नहीं सकी क्योंकि उन्होंने लोगों का विश्वास जीत लिया है और यह कि मतदाताओं ने पंजाब में कांग्रेस को 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले एक आखिरी मौका दिया है.

आप का पंजाब में बहुत बुरा प्रदर्शन रहा है और उसकी सीटें 2014 की चार से घटकर 2019 के चुनाव में बस एक रह गयी. कॉमेडियन से नेता बने मान ही चुनाव जीत पाये और उन्होंने कांग्रेस के केवल सिंह ढिल्लों को 1.10 लाख वोटों के अंतर से हराया. जब मान से पंजाब में पार्टी के लिए आगे की राह के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं संघर्ष करता रहूंगा और मेरी पार्टी अगले विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में आएगी. राज्य के लोगों ने कांग्रेस को एक आखिरी मौका दिया है. उन्होंने कहा कि सीटों की संख्या से लोगों का मूड परिलक्षित नहीं होता है.

मोदी-आंधी ने काट दी वंशवाद की बेल, परिवारवाद का सूपड़ा हुआ साफ

मोदी लहर मुझे नहीं हिला सकी: भगवंत मान
उन्होंने कहा कि हमें 2014 में दिल्ली में कुछ नहीं मिला था लेकिन 2015 में हम जबर्दस्त बहुमत के साथ सत्ता में आए. हमें इस बार भले ही कुछ नहीं मिला लेकिन 2020 में हम (राष्ट्रीय राजधानी में) सरकार बनायेंगे. उन्होंने कहा कि मोदी लहर मुझे नहीं हिला सकी क्योंकि मैंने अपने आप को अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों के प्रति समर्पित कर दिया और उनका विश्वास जीता.

पीएम मोदी ने बनाया रिकॉर्ड, प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में लौटने वाले देश के तीसरे प्रधानमंत्री बने

विरोधियों पर बोला हमला
अकाली दल, कांग्रेस और (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी सभी मुझे हराना चाहते थे. मैं अपनी जमीन पर अडिग रहा. मान ने कहा कि मैं ऐसे स्थान पर पैदा हुआ जिसे संगरूर में सुनाम कहा जाता है. वहां पैदा होने वालों को सुनामी कहा जाता है. यदि मोदी लहर है तो मैं सुनामी हूं.

पीएम मोदी की प्रचंड जीत पर अमेरिका ने दी बधाई, कहा- दुनिया के लिए प्रेरणा है भारत का चुनाव