नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) और जनहित जनता पार्टी (जेजेपी) हरियाणा की दस लोक सभा सीटों पर मिल कर चुनाव लड़ेंगे. आप के हरियाणा प्रभारी गोपाल राय और जेजेपी अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने शुक्रवार को दोनों दलों के बीच चुनावी गठबंधन की औपचारिक घोषणा की. चौटाला ने कहा कि लोकसभा चुनाव में हरियाणा की तीन लोक सभा सीटों पर आप और सात पर जेजेपी चुनाव लड़ेगी. उन्होंने कहा कि कौन सा दल किस सीट पर चुनाव लड़ेगा इसका फ़ैसला करने के लिए दोनों दलों के नेताओं की संयुक्त समन्वय समिति करेगी. अगले दो से तीन दिनों में सीटों का चयन कर लिया जाएगा.

VIDEO: ऐसी कोई प्रताड़ना नहीं है, जो मेरे साथ कांग्रेस नेताओं ने न की हो: स्मृति ईरानी

चौटाला ने स्पष्ट किया कि आप और जेजेपी का गठबंधन हरियाणा से भाजपा और कांग्रेस की जातिवाद पर आधारित अवसरवादी राजनीति को ख़त्म करने के मक़सद से किया गया है. उन्होंने कहा कि जेजेपी, लोकसभा चुनाव में दिल्ली और चंडीगढ़ में भी भाजपा कांग्रेस को हराने में आप का सहयोग करेगी. इस दौरान दिल्ली की सात सीटों पर आप के साथ गठबंधन के लिए कांग्रेस के दरवाज़े अभी भी खुले होने की कांग्रेस की पहल के बारे में गोपाल राय ने कहा कि आप ने शुरू में ही स्पष्ट कर दिया था कि गठबंधन होगा तो 33 सीट पर होगा.

VIDEO: प्रियंका चतुर्वेदी ने स्मृति ईरानी के लिए गाया गाना, कहा- ये मोदी सरकार में ही मुमकिन है

बता दें है कि कांग्रेस के दिल्ली के प्रभारी पीसी चाको ने कहा है कि कांग्रेस ने सिर्फ़ दिल्ली में आप के साथ गठबंधन की पहल की थी, लेकिन आप के हरियाणा और पंजाब में भी गठबंधन करने की आप की शर्त के कारण पार्टी दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ना लड़ेगी. चाको ने हालांकि, कहा कि अभी भी दिल्ली में आप के साथ मिलकर चुनाव लड़ने विकल्प खुला है.

SC का सभी दलों को निर्देश: चुनावी बांड की रसीद पेश करें और EC को दें को चंदा देने वालों की डिटेल

इसके जवाब में राय ने कहा, ”पार्टी ने कांग्रेस के साथ सैकड़ों मतभेदों के बावजूद देशहित में गोवा, हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ की 33 सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ने की पहल की थी. आत्ममुग्धता की शिकार कांग्रेस अगर यह बात नहीं समझ पा रही है तो आप दिल्ली की सभी सात सीट पर भाजपा को हराकर दिखाएगी.”

मुलायम-अखिलेश की आय से अधिक संपत्ति मामले में एक माह में जवाब दाखिल करे CBI: सुप्रीम कोर्ट

कांग्रेस द्वारा आप को अभी भी दिल्ली में तीन सीट देने के प्रस्ताव के सवाल पर राय ने कहा, सवाल 33 या तीन सीट का नहीं है, अकेले दिल्ली से देश नहीं बचेगा. ऐसे में सवाल देश के लिए ख़तरा बन चुकी भाजपा को हराने का है. उन्होंने कहा कि आप का कैडर गठबंधन का विरोध कर रहा है, लेकिन देशहित को ऊपर रखकर पार्टी ने गठबंधन की पहल की थी.

चौटाला ने गठबंधन के भविष्य के सवाल पर कहा कि आप और जेजेपी का साथ हरियाणा विधानसभा चुनाव में भी जारी रहेगा. घोषणापत्र के सवाल पर उन्होंने कहा कि जल्द ही हरियाणा के लिए संयुक्त दृष्टिपत्र जारी किया जाएगा. समन्वय समिति इसे अंतिम रूप दे रही है.