नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान के तहत राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आगामी 12 मई को वोट डाले जाने हैं. इसके मद्देनजर चुनाव प्रचार अपने आखिरी दौर में पहुंच गया है. वहीं विभिन्न दलों के उम्मीदवारों द्वारा एक-दूसरे पर लगाए जा रहे आरोप-प्रत्यारोप की संख्या भी बढ़ गई है. गुरुवार को पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से आम आदमी पार्टी (AAP) की उम्मीदवार आतिशी (Atishi) ने अपने विपक्षी प्रत्याशी भाजपा (BJP) के गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) पर अपमानजनक पर्चे बंटवाने का आरोप लगाया. आतिशी गुरुवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में गौतम गंभीर पर यह आरोप लगाते हुए रो पड़ीं. इसके जवाब में गौतम गंभीर ने मीडिया को अपनी प्रतिक्रिया नहीं दी है, लेकिन ऑफिशियल टि्वटर हैंडल पर अपने ऊपर लगे इन आरोपों को खारिज किया है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

आतिशी ने कहा, “मीडिया से बात करते हुए मैं बहुत दुखी महसूस कर रही हूं. मुझे दुख है कि देश में राजनीति इतनी गिर गई है.” उन्होंने संसदीय क्षेत्र में समाचार पत्रों के साथ पंपलेट बांटने का उल्लेख करते हुए कहा, “गंभीर ने जब राजनीति में प्रवेश किया था तो मैंने उनसे कहा था कि राजनीति में अच्छे लोग बहुत महत्वपूर्ण हैं. लेकिन उन्होंने और उनकी पार्टी ने दिखा दिया है कि वे कितना नीचे गिर सकते हैं.” राजधानी में शिक्षा तंत्र को दोबारा आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली आतिशी ने कहा, “मैं राजनीति में पैसे या प्रसिद्धि के लिए नहीं हूं.”

आतिशी भावुक हो गईं और रोने लगीं. उन्होंने कहा, “अगर गंभीर मेरी जैसी मजबूत महिला को गिराने के लिए इतना नीचे गिर सकते हैं, तो एक सांसद के तौर पर वे महिलाओं की सुरक्षा कैसे सुनिश्चित करेंगे.” प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आतिशी के भावुक होने पर उनके सहयोगी नेताओं ने उन्हें ढांढस दिलाया. इसके बाद आतिशी ने हाथ में रखे पंपलेट की कुछ लाइनें मीडिया के सामने पढ़कर सुनाईं. प्रेस कॉन्फ्रेंस में आतिशी के साथ बैठे दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “गौतम गंभीर ने पूर्वी दिल्ली में आतिशी के बारे में अपमानजनक पंपलेट बांटे हैं. पंपलेट की भाषा इतनी भद्दी है कि इसे पढ़कर किसी को भी शर्म आ जाए.”

उन्होंने कहा कि गंभीर जब भारत के लिए क्रिकेट खेलते थे, तो देश उनके लिए तालियां बजाता था. उन्होंने आगे कहा, “लेकिन हमने ये सपने में भी नहीं सोचा था कि चुनाव जीतने के लिए यह व्यक्ति इतना गिर जाएगा.” मनीष सिसोदिया ने अपने आधिकारिक टि्वटर हैंडल पर इस पंपलेट को शेयर किया है. इस मामले को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी गौतम गंभीर की आलोचना की है. इधर, पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार गौतम गंभीर ने आतिशी के आरोपों का जवाब मीडिया में नहीं दिया है. लेकिन उन्होंने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल पर इन आरोपों को साफ तौर पर खारिज कर दिया है.

पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार और पूर्व क्रिकेटर ने कहा है कि वह अपने ऊपर लगे इन आरोपों को खारिज करते हैं. गंभीर ने अपने ट्वीट में इस बहाने अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा है, ‘चुनाव जीतने के लिए अरविंद केजरीवाल और उनके सहयोगियों की यह करतूत एक ड्रामा है. आपकी यह हरकत बताती है कि इस चुनाव में आपकी ही पार्टी के चुनाव चिह्न ‘झाड़ू’ से आपको और आपकी पार्टी की सफाई जरूरी है.’ गंभीर ने अपने अगले ट्वीट में आतिशी को चुनौती देते हुए कहा है, ‘मैं स्पष्ट तौर पर कहता हूं कि अगर मेरे खिलाफ लगे ये आरोप सच साबित होते हैं तो मैं अपनी उम्मीदवारी वापस ले लूंगा. अगर ये आरोप सही साबित नहीं हुए तो क्या आप राजनीति छोड़ देंगी?’

(इनपुट – एजेंसी)