नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (AAP) प्रत्याशी बृजेश गोयल (Brajesh Goyal) ने आरोप लगाया कि नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी तक पहुंच नहीं होने और उनके हमेशा अनुपलब्ध रहने के कारण ही ‘‘मीनाक्षी लेखी कभी नहीं देखी’’ का नारा गूंज रहा है. हाई प्रोफाइल नई दिल्ली संसदीय सीट पर भाजपा की मीनाक्षी लेखी और कांग्रेस प्रत्याशी एवं पूर्व मंत्री अजय माकन के साथ गोयल का तिकोणीय मुकाबला है. आपको बता दें कि इस सीट पर आगामी 12 मई को लोकसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे. Also Read - दिल्ली में कोरोना क्यों बना काल? केंद्र सरकार ने दिया जवाब- केजरीवाल सरकार की बताई गलती

Also Read - West Bengal Latest News: 50 से ज्‍यादा TMC नेता बीजेपी में होंगे शामिल, भाजपा सांसद का दावा

गोयल ने बताया कि आज मतदाता देख रहा है कि कौन सुलभ है, पहुंच में आने योग्य है और उपलब्ध है और यह लेखी के खिलाफ जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपने संसदीय क्षेत्र के 70 प्रतिशत इलाके का दौरा किया है. उनके बीच में होना ही मेरी ताकत है. मेरा मजबूत मुद्दा है कि मैं अपने मतदाताओं से मिल रहा हूं और यह मीनाक्षी लेखी के खिलाफ जा रहा है.’’ उन्होंने दावा किया कि उनके लोगों से नहीं मिलने और अनुपलब्ध रहने के कारण मतदाताओं ने ‘मीनाक्षी लेखी कभी नहीं देखी’ का नारा बुलंद किया है और यह इस संसदीय क्षेत्र में सरकार विरोधी रुझान का मुख्य कारण है. Also Read - बिहार: बीजेपी ने सुशील कुमार मोदी को बनाया राज्यसभा उम्मीदवार, राम विलास पासवान के निधन से खाली हुई थी सीट

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

उन्होंने बताया, ‘‘पिछले छह महीने में जब कभी मैं अपने संसदीय क्षेत्र आया तो ‘‘मीनाक्षी लेखी कभी नहीं देखी’’ नारे के साथ एक बहुत मजबूत सरकार विरोधी रूझान देखने को मिला. सीलिंग को लेकर लेखी ने लोगों से कहा ‘‘मैं क्या कर सकती हूं’’ और उनके इस बयान को लेकर लोग बहुत गुस्से में हैं.’’ नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र एक हाई प्रोफाइल सीट है, जहां कुल 1,490,147 मतदाता हैं. यहां कई सारे सरकारी कार्यालय हैं और यहां किसी जाति या समुदाय विशेष का दबदबा नहीं है. पेशे से व्यापारी गोयल ने कहा कि यह अच्छा है कि कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं हुआ क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी में वह ‘प्रतिस्पर्धा’ में भी नहीं है.

राजनाथ सिंह बनाम पूनम सिन्हाः चुनाव प्रचार में तहजीब देखनी हो तो आइए लखनऊ

राजनाथ सिंह बनाम पूनम सिन्हाः चुनाव प्रचार में तहजीब देखनी हो तो आइए लखनऊ

ब्रजेश गोयल ने जोर देकर कहा, ‘‘कांग्रेस को 10 प्रतिशत से कम वोट मिलेगा और यह एक अच्छी बात है कि राष्ट्रीय राजधानी में इसके साथ हमारा गठबंधन नहीं हुआ.’’ गोयल ने बताया कि उनके संसदीय क्षेत्र में दुकानों की सीलिंग एक बड़ा मुद्दा है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लोकसभा चुनाव के छठे चरण के तहत आगामी 12 मई को मतदान होना है.