नई दिल्लीः दिल्ली में आप और कांग्रेस पार्टी के बीच गठबंधन की आस एक फिर जग गई है. शुक्रवार को दोनों पार्टियों ने एक बार फिर सकारात्मक संकेत दिए. आप ने गठबंधन को लेकर बातचीत को अंजाम तक पंहुचाने के लिए कांग्रेस को सोमवार तक का समय दिया है. इसके लिए पार्टी ने अपने तीन उम्मीदवारों के शनिवार को होने वाले नामांकन को स्थगित कर दिया है. Also Read - वादा तेरा वादा.....बिहार चुनाव में लगी वादों की झड़ी, किस पार्टी ने जनता से क्या की है प्रॉमिस, जानिए

आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने बताया कि अब सोमवार को आप के शेष छह उम्मीदवारों का नामांकन होगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को उसके रुख पर पुनर्विचार करने के लिये मौका देने के चलते पार्टी ने यह फैसला किया है ताकि गठबंधन को लेकर कांग्रेस के साथ चल रही बातचीत निर्णायक स्थिति में पहुंच सके. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: तेजस्वी की चाल में उलझा जदयू, 77 सीटों पर सीधा मुकाबला

उल्लेखनीय है कि आप के पश्चिमी दिल्ली से उम्मीदवार बलबीर सिंह जाखड़ बृहस्पतिवार को नामांकन पत्र दाखिल कर चुके हैं. शनिवार को पार्टी के तीन अन्य उम्मीदवारों के नामांकन का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम तय था. इस बीच आप के सूत्रों ने कांग्रेस नेतृत्व के साथ गठबंधन पर बातचीत सकारात्मक दिशा में बढ़ने की जानकारी दी है. समझा जाता है कि कांग्रेस हरियाणा में दो सीट जननायक जनता पार्टी (जजपा) और एक सीट आप को देने तथा दिल्ली में चार सीट आप एवं तीन सीट पर खुद चुनाव लड़ने के विकल्प पर विचार करने को तैयार हो गई है. Also Read - प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन पर कांग्रेस का हमला - 'देश को कोरोना का ठोस समाधान चाहिए, कोरा भाषण नहीं'

आप नेताओं को कांग्रेस को हरियाणा में जजपा को तीनों दलों के एकसाथ मिलकर चुनाव लड़ने के लिए रजामंद करने का भरोसा दिलाया है. उल्लेखनीय है कि जजपा के अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला द्वारा हरियाणा में कांग्रेस को गठबंधन में शामिल नहीं करने की घोषणा के बाद कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने भी पार्टी के सातों सीटों पर उम्मीदवार तय कर लिए जाने की घोषणा कर गठबंधन की संभावनाओं को लगभग खत्म कर दिया था. चाको ने हालांकि शुक्रवार को उम्मीदवारों की घोषणा किये जाने की जानकारी देते हुये यह भी कहा था, ‘हम दोनों ही स्थिति के लिए तैयार हैं, गठबंधन हो या नहीं, हम तैयार हैं.’