चंडीगढ़: पंजाब में एक बार फिर आम आदमी पार्टी को झटका लगा है. लोकसभा चुनाव से पहले बठिंडा संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस को मजबूती देने के लिए इस क्षेत्र के आप विधायक नजर सिंह मनशाहिया गुरुवार को छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए. मनशाहिया मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए. उन्होंने कहा कि आप ने पंजाब में भावनात्मक लगाव खो दिया है, क्योंकि इसे दिशा देने के लिए उसके पास कोई सकारात्मक कार्यसूची या विचारधारा नहीं है. वहीं, अमरिंदर सिंह ने कहा कि मनशाहिया के शामिल होने से कांग्रेस और मजबूत होगी.

मनशाहिया का पार्टी छोड़ना आप के लिए एक बड़ा झटका है, क्योंकि उनके साथ बड़ी संख्या में वरिष्ठ नेताओं व कार्यकर्ताओं का पार्टी छोड़ना तय है. अमरिंदर सिंह ने कहा, “दूसरी पार्टियों के समान विचारधारा वाले लोग जो पंजाब का हित चाहते हैं बड़ी संख्या में कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं. यह इस बात का स्पष्ट संकेत है कि आप में जो लोग हैं, वे मोहभंग की स्थिति में हैं. पार्टी में बड़ी बगावत के बीच उन्होंने अपना रुतबा खो दिया है.”

पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी रहे मनशाहिया साल 2015 में समयपूर्व सेवानिवृत्ति लेकर आप में शामिल हुए थे. गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज से इंजीनियरिंग में स्नातक मनशाहिया वर्ष 2017 में मनसा सीट से विधायक चुने गए थे.