बेंगलुरू. फिल्म ‘वांटेड’ के अंतिम दृश्य में विलेन प्रकाश राज और नायक सलमान खान के बीच मार-धाड़ वाले सीन में एक डायलॉग है, ‘अरे तुमने इन लोगों को कैसे मार दिया. मैंने घूम-घूमकर गलियों और कूचों से इन गुंडों को चुना था. पुलिसवाला तो कोई भी बन सकता है, गुंडे बनना खेल नहीं है.’ फिल्मों की जिंदगी में भले ही प्रकाश राज किसी गैंग का समर्थन करते दिखें, लेकिन सियासी जिंदगी में उन्हें एक ‘गैंग’ में बंधकर रहना पसंद नहीं है. भविष्य के बारे में तो नहीं मालूम, मगर फिलहाल तो वे अकेले ही सियासत का झंडा बुलंद कर रहे हैं. जी हां, दक्षिण भारत की फिल्मों से लेकर बॉलीवुड तक की फिल्मों में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाने वाले इस एक्टर ने शुक्रवार को अपने राजनीतिक जीवन का आगाज कर दिया है.

इस साल की शुरुआत में लोकसभा चुनाव लड़ने का एलान करने वाले प्रकाश राज ने शुक्रवार को निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन पर्चा भर दिया. वर्ष 2017 में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद दक्षिणपंथी संगठनों के खिलाफ खुलकर अपनी आवाज रखने वाले प्रकाश राज ने राजनीति में आने की घोषणा करते हुए कहा था कि वे संसद में आम जनता की आवाज बनेंगे. अगर आप पिछले कुछ दिनों में उनके द्वारा किए गए सोशल मीडिया पोस्ट्स पर नजर डालें तो दलगत राजनीति के खिलाफ आवाज बनने की उनकी कोशिश, आपको साफ नजर आएगी.

कर्नाटक में प्रकाश राज चला रहे बीजेपी के खिलाफ कैंपेन, आखिर क्यों?

दक्षिण भारत के इस बहुभाषी अभिनेता ने शुक्रवार को बेंगलोर सेंट्रल संसदीय सीट पर निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए पर्चा भरा. 53 साल के प्रकाश राज कन्नड़, तेलुगू, तमिल और हिंदी फिल्मों का एक जाना-पहचाना नाम हैं. वह इसी शहर के रहने वाले हैं. जनवरी में राजनीति में आने का एलान करते हुए उन्होंने कहा था कि नए साल की शुरुआत के साथ ही नई जिम्मेदारियां वे लेने वाले हैं. हालांकि उस समय उन्होंने अपनी चुनावी सीट का खुलासा नहीं किया था, बस समर्थकों को यह बता भर दिया था कि वे 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ेंगे.

दिग्गज अभिनेता प्रकाश राज अब बनेंगे नेता, ट्विटर पर किया ये एलान

राजनीति में आने के साथ ही दलगत राजनीति की खिलाफत करने वाले प्रकाश राज के निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन भरने के पीछे की सोच को देखने के लिए आपको उनके टि्वटर हैंडल पर जाना होगा. यहां सबसे पहला ट्वीट देखते ही आपको इस अभिनेता से नेता बनने वाले प्रकाश राज की सोच दिखाई देगी. शुक्रवार को नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद प्रकाश राज ने अपने इस मंसूबे के बारे में लोगों को बताया भी. पर्चा दाखिल करने के बाद राज ने मीडिया से कहा, “भाजपा और कांग्रेस जैसे राष्ट्रीय दल लोगों की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे हैं. मैं लोगों की आवाज बनना चाहूंगा.”

बहरहाल, लोकसभा चुनाव के दौरान अभिनेता प्रकाश राज का सामना भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा सांसद पी.सी.मोहन से होगा, जिन्होंने भी बेंगलोर सेंट्रल सीट से शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया. कांग्रेस ने अभी इस निर्वाचन क्षेत्र के लिए अपने प्रत्याशी के नाम का एलान नहीं किया है. आम आदमी पार्टी ने प्रकाश राज को समर्थन देने का एलान किया है. आपको बता दें कि एक्टर प्रकाश राज केन्द्र की मौजूदा भाजपा-नीत सरकार के मुखर आलोचक रहे हैं. खासकर पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद उन्होंने पुरजोर तरीके से इंसाफ की मांग उठाई थी.

(इनपुट – एजेंसी)