रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) लोकसभा चुनाव में अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगी. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के नेता अमित जोगी ने मंगलवार को यहां बताया कि पार्टी की कोर कमेटी और संसदीय बोर्ड ने सर्वसम्मति से इस बारे में निर्णय लिया है. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पार्टी होने के कारण बहुजन समाज पार्टी छत्तीसगढ़ की सभी सीटों पर अपने उम्मीदवारों को चुनाव में उतारेगी. दोनों पार्टियां मिलकर गठबंधन को अधिक से अधिक जन समर्थन दिलाने के लिए काम करेंगी. आपको बता दें कि राज्य की सभी सीटों के लिए तीन चरणों में 11 अप्रैल, 18 अप्रैल और 23 अप्रैल को मतदान होगा.

नेता के गोदाम में कर्टन और बोरों में भरे मिले नोट, गिनेे तो Rs.11 करोड़ से ज्‍यादा निकले

अमित जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़िया सम्मान और संस्कृति को आधार मानकर ही उनकी पार्टी का गठन किया गया है. उन्होंने कहा कि राज्यवासियों का विकास और कल्याण यहां उपलब्ध संसाधनों के बाहुल्य के अनुरूप करने के लिए हमने क्षेत्रीय पार्टी बनाई है. साथ ही राष्ट्रीय पृष्ठभूमि में हमारी पार्टी का इस राष्ट्र में सांप्रदायिकता और नफ़रत फैलाने वाली ताक़तों को परास्त करना पहला और अंतिम लक्ष्य रहा है. उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में हमने बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन किया और राज्य की जनता ने पहले ही प्रयास में हमें सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाने का दायित्व दिया है.

कांग्रेस घोषणापत्र में काम, दाम, शान, सुशासन, स्वाभिमान पर जोर, 10 प्वाइंट्स में जानिए प्रमुख बातें

उन्होंने कहा कि हमारा स्पष्ट लक्ष्य है कि चाहे हमें किसी भी सीमा तक जाना पड़े, हम अपनी पूरी शक्ति राज्य में भाजपा को सभी सीटों पर पराजित कराने के लिए लगाएंगे. हम एक क्षेत्रीय पार्टी हैं इसलिए राष्ट्रीय राजनीति में हमारी भूमिका भाजपा को हर हालत में परास्त करने तक सीमित है. अमित जोगी ने बताया कि संयुक्त रूप से यह भी निर्णय लिया गया है कि छत्तीसगढ़ के छात्र संघ, नगरी निकाय और त्रिस्तरीय पंचायती राज चुनाव में छत्तीसगढ़ की सभी सीटों में क्षेत्रीय दल होने के नाते जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) गठबंधन की तरफ़ से अपने चुनाव चिन्ह्र ‘हल चलाता किसान’ पर उम्मीदवारों को लड़ाएंगी.

पूर्व क्रिकेटर गंभीर ने उमर अब्दुल्ला को दी पाक जाने की सलाह तो बोले पूर्व सीएम- आईपीएल पर ट्वीट करो गौतम

पूर्व क्रिकेटर गंभीर ने उमर अब्दुल्ला को दी पाक जाने की सलाह तो बोले पूर्व सीएम- आईपीएल पर ट्वीट करो गौतम

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस से अलग होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने राज्य में नई पार्टी का गठन किया था. राज्य में पिछले वर्ष हुए विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी ने बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन किया था. इस चुनाव में गठबंधन को राज्य की 90 सीटों में से सात सीटों पर जीत मिली थी, जिसमें पांच सीटों पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के उम्मीदवार विजयी हुए थे. अब बहुजन समाज पार्टी ही सभी 11 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. बसपा ने अभी तक नौ सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. रायपुर और बिलासपुर सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा जल्द की जाएगी.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com