नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (AAP) की विधायक अल्का लांबा पिछले कुछ महीनों से अपनी पार्टी से नाराज हैं. इस बीच उनकी पार्टी और विपक्षी दलों के नेता जहां उन्हें आप से इस्तीफा देने की सलाह दे रहे हैं, वहीं आम लोग भी पार्टी से इस्तीफा देने को कह रहे हैं. इन सारी बातों को सुनते हुए वह सोशल मीडिया पर तो अपनी क्षमता के अनुसार जवाब देती रही हैं, लेकिन बुधवार को उन्होंने इस मामले पर अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों की राय जानी. वह दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके में पहुंचीं और लोगों से बात की. इस दौरान अलका लांबा ने जामा मस्जिद के बाहर के लोगों से पूछा कि क्या उन्हें आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दे देना चाहिए, क्योंकि “पार्टी के लोग” उनके इस्तीफे की बार-बार मांग कर रहे हैं.

आप विधायक सौरभ भारद्वाज सौरभ ने उन्हें पार्टी से इस्तीफा देने का ताना दिया था. चांदनी चौक के विधायक अल्का ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी बार-बार उनके इस्तीफे की मांग कर रही है और वह इस बारे में लोगों से राय लेना चाह रही थीं.

लांबा ने कहा “मैं बीजेपी के खिलाफ लड़ रही हूं लेकिन कुछ लोग मेरे खिलाफ लड़ रहे हैं. मेरी पार्टी के लोग मुझसे बार-बार इस्तीफा देने के लिए कह रहे हैं. मैं जानना चाहती हूं कि मेरी गलती क्या है. मुझे इस्तीफा क्यों देना चाहिए? मैं चाहती हूं कि मेरे निर्वाचन क्षेत्र चांदनी चौक के लोग तय करें कि मुझे ‘आप’ से इस्तीफा देना चाहिए या नहीं.”

अल्का लांबा ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर चल रही चर्चाओं पर भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि भाजपा को हराने का एक ही रास्ता है कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस हाथ मिला लें.

(इनपुट – एजेंसी)

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com