नई दिल्ली. कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की तीसरी लिस्ट जारी की, वहीं उसने पूर्वी उत्तर प्रदेश की भी 6 सीटों पर उम्मीदवार उतार दिए. इसमें सबसे ज्यादा चर्चा महराजगंज की सीट से तनुश्री त्रिपाठी के नाम पर है. उन्हें इससे पहले शिवपाल यादव ने अपनी पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) से टिकट दिया था. लेकिन कांग्रेस से टिकट मिलने के बाद वह अब इसी से चुनाव लड़ेंगी.

बता दें कि तनुश्री त्रिपाठी बाहुबली अमरमणि त्रिपाठी की बेटी हैं. अमरमणि त्रिपाठी यूपी के पूर्व मंत्री हैं. इसके साथ ही वह कवियित्री मधुमिता शुक्ला हत्याकांड की भी दोषी हैं. अमरमणि त्रिपाठी की एक समय पूरे पूर्वांचल में तूती बोलती थी. उनके बेटे अमनमणि त्रिपाठी भी साल 2017 में निर्दलीय विधायक चुन कर आए हैं. उनके भाई पर भी पत्नी की हत्या का आरोप लगा है.

लंदन से पढ़ाई करके लौटी हैं
तनुश्री के बारे में कहा जाता है कि वह लंदन से पढ़ाई करके लौटी हैं. उनकी स्कूली शिक्षा नैनीताल में हुई है और उन्हें ग्रेजुएशन दिल्ली यूनिवर्सिटी से किया है. 28 साल की तनुश्री सबसे पहले साल 2017 में तब चर्चा में आई थीं, जब उन्होंने जेल में बंद अपने भाई अमनमणि के लिए विधानसभा चुनाव में प्रचार शुरू किया था. बताया जाता है कि पूरे चुनाव के दौरान तनुश्री ने लगातार कैंपेन किया था और जनता को बताया था कि किस तरह से उनके परिवार को बदनाम करने की साजिश रची गई है.

प्रियंका गांधी से हैं प्रभावित
हाल ही प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बनने और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी बनने पर तनुश्री ने खुशी जाहिर की थी. उन्होंने कहा था कि उन्हें अच्छा लग रहा है कि महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ रहा है. प्रियंका जैसी महिलाओं के सक्रिय राजनीति में आने से जनता को फायदा मिलेगा. उन्होंने कहा था कि वह प्रियंका से काफी प्रभावित हैं. इसके बाद से ही अटकलें लग रही थीं कि वह कांग्रेस का दामन थाम सकती हैं.