घाटल (पश्चिम बंगाल). भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर लोगों को राज्य में जय श्रीराम का नारा लगाने से रोकने का आरोप लगाया है. लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान से पहले प्रदेश के घाटल लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में रैली करने पहुंचे अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि ममता बनर्जी को जय श्रीराम बोलने पर ऐतराज है. लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि आप मुझ पर जितनी चाहें उतनी धाराएं लगा लीजिए, लेकिन आप हमें चुप नहीं कर सकतीं. हमें बोलने से नहीं रोक सकतीं. शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जय श्रीराम का नारा भारत में नहीं लगाएंगे, तो क्या पाकिस्तान में लगाएंगे.

भाजपा अध्यक्ष ने अपने संबोधन के दौरान तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी पर चुनाव के दौरान हिंसा फैलाने का भी आरोप लगाया. जय श्रीराम के नारे को लेकर उन्होंने कहा, ‘मैं देख रहा हूं कि जय श्रीराम बोलने पर ममता दीदी को ऐतराज है. मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि जय श्रीराम का नारा भारत में नहीं लगेगा तो क्या पाकिस्तान में लगेगा.’ अमित शाह ने अपने भाषण में कहा, ‘आप मुझ पर जो चाहे धारा लगा सकती हैं, लेकिन आप हमें और हमारी संस्कृति को चुप नहीं कर सकतीं. मोदी का नारा सवा सौ करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद है. 23 मई को जब मतगणना समाप्त होगी और उसके बाद नरेंद्र मोदी फिर से देश के प्रधानमंत्री बनेंगे.’

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

अमित शाह ने तृणमूल कांग्रेस पर राज्य में जोर-जुल्म से शासन चलाने का भी आरोप लगाया. उन्होंने अपने भाषण में कहा, ‘यहां सिंडिकेट को टैक्स देना पड़ता है. ममता दीदी की सरकार के मंत्री यह सिंडिकेड चलाते हैं. सिंडिकेट के जरिए सारा पैसा ममता के भतीजे के पास जाता है, जहां से वह इस पैसे को विदेश भेजते हैं.’ बंगाल में ममता सरकार द्वारा लोगों पर उर्दू थोपे जाने को लेकर भी अमित शाह ने प्रहार किया. उन्होंने कहा, ‘इस्लामपुर में एक बच्चे को बंगाली नहीं पढ़ने दिया गया. ममता दीदी ने वहां उर्दू टीचर भेज दिया. उस बच्चे ने इसका विरोध किया. हमारे लोगों ने इसके खिलाफ आवाज उठाई तो दो लोगों को गोली मार दी गई.’

मध्यप्रदेश में दिग्विजय के पक्ष में जुटे साधु-संत, लगाया नारा- ‘राम मंदिर नहीं तो मोदी नहीं’

पश्चिम बंगाल के चुनाव में तृणमूल कांग्रेस द्वारा बाधा पैदा करने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा, ‘बंगाल को ममता दीदी की सरकार से मुक्त कराने के लिए यहां चुनाव कराया जा रहा है. आप हमारी रैली को रोकने के लिए चाहे जितनी भी कोशिश कर लो, लेकिन हम पीछे नहीं हटेंगे.’ घाटल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी भारती घोष के समर्थन में वोट देने की अपील करते हुए शाह ने कहा कि हमारी सरकार बनने के बाद नागरिकता विधेयक (CITIZEN AMENDMENT BILL) के तहत बंगाल से सभी अवैध घुसपैठियों को बाहर निकाला जाएगा. ममता बनर्जी द्वारा पीएम मोदी की बैठक को लेकर दिए गए बयान पर अमित शाह ने कहा, ‘ममता दीदी कहती हैं कि वह नरेंद्र मोदी को पीएम नहीं मानतीं. मैं कहना चाहता हूं कि आपके मानने या न मानने से नहीं होगा. इस देश के संविधान के तहत लोग जिसको चुनते हैं, वह पीएम बनता है. आपके न मानने से कुछ नहीं होता. और 5 साल की तैयारी कर लो, मोदी फिर से एक बार पीएम बनने जा रहे हैं.’