नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के एक बयान को लेकर राजनीति तेज हो गई है. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने एक अखबार की खबर को ट्वीट करते हुए लिखा, शीला दिक्षित जी आप का बहुत-बहुत धन्यवाद, उस बात को दोहराने के लिए जिसे पूरा देश पहले से जानता है लेकिन कांग्रेस पार्टी इसे कभी स्वीकार नहीं करती. गौरतलब है कि मीडिया के एक हिस्से में आई खबरों के मुताबिक एक चैनल को दिए इंटरव्यू में दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि आतंक के खिलाफ पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का रुख नरेंद्र मोदी जितना कड़ा नहीं था.

हालांकि शीला दीक्षित ने आतंकवाद के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘कड़े रुख’ की कथित तौर पर तारीफ करने के अपने एक बयान को लेकर विवाद खड़ा होने के बाद गुरुवार को कहा कि उनकी बात को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है. शीला ने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने देखा कि मीडिया का एक हिस्सा एक इंटरव्यू में की गई मेरी टिप्पणी को तोड़मरोड़ रहा है. मैंने कहा था: हो सकता है कि कुछ लोगों को ऐसा लगता हो कि मोदी जी आतंकवाद पर कड़ा रुख रखते हैं लेकिन मेरा मानना है कि यह कुछ और नहीं बल्कि चुनावी हथकंडा है.

उन्होंने कहा, ‘मैंने यह भी कहा था कि राष्ट्रीय सुरक्षा हमेशा एक चिंता का विषय है और इंदिरा जी कड़े रुख वाली नेता रहीं. उनके कथित बयान को लेकर आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उन पर निशाना साधते हुए कहा, ‘शीला जी का ये बयान वाकई चौंकाने वाला है. भाजपा और कांग्रेस में कुछ तो खिचड़ी पक रही है.