संगरूर (पंजाब). दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) के प्रचार अभियान की शुरुआत की. लेकिन पहले ही दिन केजरीवाल का स्वागत काले झंडों से किया गया. केजरीवाल संगरूर से आप के उम्मीदवार भगवंत मान के लिए प्रचार कर रहे थे. राज्य को मादक पदार्थो के नाम पर बदनाम करने के लिए प्रदर्शनकारियों ने केजरीवाल के खिलाफ नारे लगाए और उन्हें वापस जाने को कहा.

एक प्रदर्शनकारी गुरिंदर सिंह ने कहा, “पिछले लोकसभा चुनाव में केजरीवाल ने पंजाब को यह कहकर बदनाम किया था कि यह ‘मादक पदार्थो का स्वर्ग है’ और ‘यहां के युवा नशे के आदी हैं’. बाद में, उन्होंने पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से उनके खिलाफ मादक पदार्थो के कारोबार में संलिप्त होने के आरोप लगाने को लेकर बिना शर्त माफी मांगी थी.” उसने कहा, “मजीठिया से माफी मांगने के बजाए उन्हें पंजाब के लोगों से बार-बार और लगातार झूठ बोलने के लिए माफी मांगनी चाहिए थी.”

मजीठिया शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के बहनोई हैं और पिछली राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री थे. आप संयोजक शुक्रवार तक पंजाब में चुनाव प्रचार करेंगे. लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को राज्य के सभी निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होना है. पंजाब में लोकसभा की कुल 13 सीटें हैं, जिनके लिए लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में वोट डाले जाएंगे.