नयी दिल्ली: लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) को मिली करारी शिकस्त से हताश पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार करते हुए रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनसे जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करने और अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित करने की अपील की. इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली में पार्टी के खिलाफ कोई नहीं है. लोकसभा का चुनाव राहुल जी और मोदी जी का था. यह चुनाव केजरीवाल का नहीं था. आप का चुनाव अगले साल आने वाला है और जनता आपके काम के आधार पर पार्टी को फिर से जिताएगी. Also Read - पीएम मोदी का बड़ा दावा- कूच बिहार में ममता बनर्जी ने कराई थी हिंसा, ये था प्लान

  Also Read - Corona Guidelines for Navratri and Ramadan 2021: यूपी, बिहार से लेकर महाराष्ट्र तक, जानिए इन 6 राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर क्या हैं नियम?

पश्चिम दिल्ली के पंजाबी बाग में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम चलाने वाले अन्ना हजारे ने उनसे कहा था कि जब कोई राजनीति या सार्वजनिक जीवन में आता है तो उसमें अपमान भी सहने की क्षमता होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि कई बार हमें अपमान सहना पड़ता है और मुझे इस अपमान को विनम्रता से स्वीकार करने के लिए अपने कार्यकर्ताओं पर गर्व है. उन्होंने कहा कि अब आप दिल्ली के लोगों के पास जाएं और उन्हें बताएं कि बड़ा चुनाव खत्म हो गया है और छोटे चुनाव आने वाले हैं. इन चुनावों में आपलोग नाम के आधार पर नहीं, बल्कि काम के आधार पर वोट दें.

नरेन्द्र मोदी की सांसदों को नसीहत: छपास, दिखास से बचिये, बस मिठास रखिये

आप दिल्ली में सभी सात लोकसभा सीटों पर भारी मतों के अंतर से चुनाव हार गयी. उन्होंने कहा कि अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव किसी एक विधायक या पार्षद द्वारा नहीं लड़ा जाएगा. यह टीम केजरीवाल द्वारा लड़ा जाएगा और हमारा नारा होगा- ‘लड़ेंगे, जीतेंगे’.

भाजपा ने कई राज्यों में 50 फीसदी से अधिक मत हासिल किए, कांग्रेस सिर्फ राज्‍य में सिमटी