नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने बुधवार को कांग्रेस की गुजरात राज्य इकाई के अध्यक्ष बाबूभाई रायक को ‘आपत्तिजनक भाषा’ का उपयोग करने के लिए 72 घंटे तक प्रचार करने से रोक दिया है. आयोग ने कहा कि 11 अप्रैल को पार्टी कार्यकर्ताओं और मतदाताओं को संबोधित करते हुए बाबूभाई रायका ने ‘शालीनता की सीमा को लांघते हुए असंयमित और अपमानजनक भाषा’ का इस्तेमाल किया.

चुनाव आयोग इसकी निंदा करता है और दो मई शाम चार बजे से पांच मई तक तीन दिन तक भारत में कहीं भी प्रचार करने पर रोक लगाता है. मंगलवार को आयोग ने भाजपा की गुजरात इकाई के प्रमुख जीतूभाई वघानी को एक चुनावी सभा में ‘‘असंयमित और अपमानजनक भाषा’’ का इस्तेमाल करने के लिए 72 घंटे तक प्रचार करने से रोक दिया था. गुजरात की सभी सीटों पर 23 अप्रैल को एक ही चरण में चुनाव हो गए हैं.