नई दिल्ली: बीजेपी की बागी सांसद सावित्री बाई फुले कांग्रेस में शामिल हो गई हैं. वह उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे बहराइच संसदीय इलाके से सांसद चुनी गई थीं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी व ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में उन्होंने कांग्रेस जॉइन कर ली. सावित्री बाई फुले के साथ ही फतेहपुर के पूर्व सांसद राकेश सचान भी कांग्रेस में शामिल हो गए. राकेश सचान सपा नेता रहे हैं.

बता दें कि बीजेपी से बहराइच सीट से सांसद चुनी गईं सावित्री बाई फुले ने 6 दिसंबर 2018 को पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. बीजेपी में रहते हुए भी वह लगातार पार्टी की आलोचना कर रही थीं. उन्होंने कई बार बीजेपी पर दलितों को आगे नहीं बढ़ने देने का आरोप लगाया था. इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी को आरक्षण के खिलाफ भी बताया था. सावित्री बाई फुले का आरोप था कि बीजेपी समाज को बाँट रही है. उनका आरोप था कि देश के कई हिस्सों में लगातार भीमराव आंबेडकर की प्रतिमाएं तोड़ी गईं लेकिन सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की.


सावित्री बाई फुले ने इस्तीफा देते हुए कहा था कि अगर सीट सुरक्षित नहीं होती तो मैं कभी सांसद नहीं बन पाती. मैं किसी की गुलाम नहीं हूँ. उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि दलित सांसद होने के कारण बीजेपी में उनकी उपेक्षा की गई. लगातार निशाना साधने वाली सावित्री बाई फुले ने आखिरकार पार्टी छोड़ दी थी.