बांदा. उत्तर प्रदेश में बांदा-चित्रकूट संसदीय क्षेत्र से तीन प्रमुख राजनीतिक दलों ने समाजवादी पार्टी (सपा) के तीन पूर्व सांसदों को टिकट देकर आमने-सामने उतार दिया है. इससे यहां लड़ाई बेहद रोचक हो गई है. श्यामाचरण गुप्त (गठबंधन), आर.के. सिंह पटेल (भाजपा) और बालकुमार पटेल (कांग्रेस) समाजवादी पार्टी से सांसद रह चुके हैं. उल्लेखनीय है कि लोकसभा क्षेत्र संख्या-48 बांदा-चित्रकूट सपा-बसपा गठबंधन के बंटवारे में समाजवादी पार्टी (सपा) के खाते में गई है.

राफेल के जवाब में मोदी ने निकाला बोफोर्स का जिन्न, कहा- पिता के पाप से दबे हैं राहुल गांधी

सपा ने यहां इलाहाबाद के मौजूदा सांसद श्यामाचरण गुप्त को अपना उम्मीदवार घोषित किया है. श्यामाचरण 2004 में बांदा-चित्रकूट सीट से ही सपा के सांसद रह चुके हैं. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पिछड़ा वर्ग कार्ड खेलते हुए अपने मौजूदा सांसद भैरों प्रसाद मिश्रा का टिकट काट कर मानिकपुर (चित्रकूट) से भाजपा विधायक आर.के. सिंह पटेल को मैदान में उतारा है. पटेल 2009 में बांदा से सपा के टिकट पर चुनाव जीत कर सांसद बने थे और 2014 का चुनाव बसपा के टिकट पर लड़ कर भाजपा के भैरों प्रसाद से हारे थे.

गुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका, अल्‍पेश ठाकोर समेत तीन ओबीसी विधायकों ने छोड़ी पार्टी

इसी प्रकार श्यामाचरण को प्रत्याशी घोषित करने से नाराज 2009 में मिर्जापुर से सपा के सांसद रहे बालकुमार पटेल सपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए और कांग्रेस ने उन्हें आनन-फानन में बांदा से टिकट भी थमा दिया है. सपा के ही तीन दिग्गजों के आमने-सामने चुनाव लड़ने से यहां का चुनावी समर बेहद दिलचस्प हो गया है.

राजनीतिक विश्लेषक रणवीर सिंह चौहान कहते हैं, “तीन प्रमुख राजनीतिक दलों से सपा के ही तीन पूर्व सांसदों के चुनाव लड़ने से चुनावी लड़ाई बेहद दिलचस्प हो गई है. पहले माना जा रहा था कि गठबंधन, भाजपा और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय लड़ाई होगी, लेकिन भाजपा के पिछड़ा कार्ड खेलने से अब लगता है कि कांग्रेस लड़ाई से बाहर हो सकती है.”

लोकसभा चुनाव से पहले एक और फिल्म फंसी कानूनी विवाद में, रिलीज रोकने की मांग’

यहां बता दें कि बांदा और चित्रकूट जिले को मिलाकर गठित इस संसदीय क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 19,96,599 है. बांदा जिले में 12,99,367 मतदाता हैं. पूरे क्षेत्र में 18 से 39 साल के मतदाताओं की संख्या 9 लाख 19 हजार है. माना जा रहा है कि जिधर युवा वर्ग लुढ़केगा, जीत भी उसी की होगी. बांदा-चित्रकूट में मतदान पांचवें चरण यानी छह मई को होना है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com