वडोदरा: आदिवासियों के अधिकारों और समस्‍याओं को उठाने वाली एक पार्टी अब अपना जनाधार बढ़ाने के लिए गुजरात के अलावा भी कई राज्‍यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, छत्तीसगढ़, ओडिशा और केंद्र शासित प्रदेश दमन और दीव में 20 लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ेगी. यह घोषणा रविवार को पार्टी प्रमुख छोटूभाई वसावा ने की.

बीटीपी की स्थापना गुजरात में 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले हुई थी और पार्टी को 182 सदस्यीय सदन में दो सीटों पर जीत हासिल हुई थी. वसावा ने झागड़िया से जीत हासिल की थी जबकि उनके बेटे महेश डेडियापाड़ा से विधायक हैं.

बीटीपी के संस्थापक ने कहा, ”मैं भरूच से चुनाव लडूंगा क्योंकि यहां बड़ी संख्या में आदिवासी हैं.” उन्होंने आरोप लगाया, कांग्रेस और भाजपा ने अपने हितों के लिए आदिवासी वोटों को बांट दिया है. हम चाहते हैं कि आदिवासी हितों की रक्षा हो और संसद में उन्हें प्रतिनिधित्व मिले.