लखनऊ. लोकसभा चुनाव के पहले चरण में उत्तर प्रदेश के पश्चिमाञ्चल स्थित आठ सीटों पर गुरुवार को मतदान होगा. मतदाता सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक वोट डाल सकेंगे. प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि पहले चरण के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे तक चलेगा. इस चरण में सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर सीटों के लिए मतदान होगा. इस चरण में डेढ़ करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. इनमें 82,24,000 पुरुष तथा 68,39,000 महिलाएं शामिल हैं. इस चरण के लिए कुल 6,716 मतदान केंद्र और 16,581 मतदेय स्थल बनाए गए हैं.

पहले चरण के चुनाव में केंद्रीय मंत्रियों जनरल वीके सिंह (गाजियाबाद) और महेश शर्मा (गौतम बुद्ध नगर) के साथ साथ रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह (मुजफ्फरनगर) और उनके बेटे जयंत चौधरी (बागपत) समेत कई दिग्गजों का सियासी भाग्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में बंद हो जाएगा. पहले चरण में मुजफ्फरनगर सीट पर सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन प्रत्याशी के तौर पर रालोद प्रमुख अजित सिंह का मुकाबला भाजपा के मौजूदा सांसद संजीव बालियान से होगा. बागपत सीट पर अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर मैदान में हैं. वहां उनका मुकाबला मौजूदा सांसद भाजपा के सत्यपाल सिंह और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी चौधरी मोहकम से है.

गाजियाबाद में है कड़ा मुकाबला
गाजियाबाद सीट पर मौजूदा केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह का मुकाबला महागठबंधन के प्रत्याशी सुरेश बंसल और कांग्रेस उम्मीदवार डॉली शर्मा से है. नोएडा सीट से भाजपा के प्रत्याशी और मौजूदा केंद्रीय मंत्री डॉक्टर महेश शर्मा के सामने लगातार दूसरी बार इस सीट से संसद पहुंचने की चुनौती है. उनके मुकाबले में कांग्रेस ने डॉ अरविंद सिंह को उतारा है जबकि महागठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर सत्यवीर नागर मैदान में हैं. सहारनपुर में मौजूदा भाजपा सांसद और प्रत्याशी राघव लखन पाल का मुख्य मुकाबला कांग्रेस के इमरान मसूद से है.

कैराना में भी काटे की टक्कर
पिछले साल हुए उपचुनाव में भाजपा से कैराना की सीट छीनने वाली मौजूदा सांसद और महा गठबंधन की प्रत्याशी तबस्सुम हसन के सामने एक साल के अंदर इस सीट को दूसरी बार जीतने की कड़ी चुनौती है. उनका मुख्य मुकाबला गंगोह सीट से मौजूदा विधायक भाजपा प्रत्याशी प्रदीप चौधरी तथा कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व राज्यसभा सांसद हरेंद्र मलिक से है.

यहां भी है कड़ा मुकाबला
मेरठ सीट पर मौजूदा भाजपा सांसद और प्रत्याशी लगातार तीसरी बार जीतने की आस लगाए हुए हैं. बसपा ने यहां से महागठबंधन प्रत्याशी के तौर पर पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी को उतारा है. वहीं, कांग्रेस ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास के बेटे हरेंद्र अग्रवाल को टिकट दिया है. बिजनौर सीट पर मौजूदा भाजपा सांसद कुंवर भारतेंद्र सिंह एक बार फिर मैदान में हैं. उनका मुकाबला कभी बसपा प्रमुख मायावती के विश्वसनीय रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी से है. वहीं, महागठबंधन ने मलूक नागर को यहां से मैदान में उतारा है.