नयी दिल्ली: भाजपा की दिल्ली इकाई ने रविवार को पुलिस आयुक्त से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सुरक्षा कवर की समीक्षा की मांग की. एक दिन पहले ही केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि उनकी सुरक्षा में तैनात निजी सुरक्षाकर्मी उनकी हत्या कर सकते हैं. Also Read - Kisan Andolan: ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा के बाद किसानों ने बजट के दिन संसद मार्च की योजना टाली

इंदिरा गांधी की तरह मेरी भी हो सकती है हत्या, BJP जान के पीछे पड़ी: CM अरविंद केजरीवाल Also Read - किसानों ने हमें धोखा दिया, दोषियों को नहीं छोड़ेंगे, कड़ी कार्रवाई करेंगे: दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक को लिखे एक पत्र में भाजपा प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि केजरीवाल का बयान उनके सुरक्षाकर्मियों के साथ-साथ राष्ट्रीय राजधानी के समूचे पुलिस बल के मनोबल को नुकसान पहुंचाने वाला है. उन्होंने पत्र की प्रतियां केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को भी भेजी हैं. केजरीवाल ने शनिवार को आरोप लगाया था कि भाजपा उनकी जान के पीछे पड़ी है और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तरह उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी उनकी हत्या कर सकते हैं. Also Read - Kisan Andolan: राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के बाद 'भानु' गुट ने भी खत्म किया आंदोलन, वीएम सिंह बोले- 'राकेश टिकैत के साथ अब...'

सीएम अरविंद केजरीवाल को शख्स ने मारा थप्पड़, खुली जीप में कर रहे थे रोड शो

केजरीवाल ने एक चैनल से कहा था कि भाजपा उनकी जान के पीछे पड़ी
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने हाल में पंजाब में भी एक समाचार चैनल से कहा था कि भाजपा उनकी जान के पीछे पड़ी है और एक दिन वह उनकी हत्या करा देगी. कपूर ने अपने पत्र में लिखा कि मुझे लगता है कि मुख्यमंत्री की ओर से आया यह बयान न सिर्फ उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों बल्कि अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा में तैनात दिल्ली पुलिस के कर्मियों के मनोबल को नुकसान पहुंचाने वाला है.

VIDEO: तेजप्रताप के सुरक्षाकर्मियों ने मीडियाकर्मी को पीटा, लालू के बेटे बोले- मुझे मारने की साजिश थी

सुरक्षा कवर लें वापस
कपूर ने कहा कि केजरीवाल के आसपास तैनात सभी सुरक्षा कर्मियों को मनोवैज्ञानिक परामर्श दिया जाना चाहिए और दिल्ली पुलिस को तुरंत उनके सुरक्षा कवर की समीक्षा करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस को केजरीवाल से उनके आरोपों के लिए माफी की मांग करनी चाहिये और अगर वह इससे इनकार करते हैं, तो उनका सुरक्षा कवर वापस ले लिया जाना चाहिये.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com