अमेठी (उप्र). गांधी परिवार की परंपरागत सीट मानी जाने वाली उत्तर प्रदेश की प्रतिष्ठित अमेठी सीट पर भी इस बार भाजपा ने अपना परचम लहरा दिया है. इस सीट पर केंद्रीय मंत्री और भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को शिकस्त दी है. 55 हजार से अधिक वोटों से अमेठी सीट जीतकर स्मृति ईरानी ने न सिर्फ भाजपा की प्रतिष्ठा बढ़ाई है, बल्कि इस मिथक को भी ध्वस्त किया कि यह लोकसभा क्षेत्र गांधी-परिवार की विरासत है. इस शानदार जीत के बाद स्मृति ईरानी शुक्रवार की सुबह अमेठी की जनता के प्रति आभार जताया. सोशल मीडिया पर लिखे अपने विचार में स्मृति ने कहा कि यह एक नई सुबह है. अमेठी की जनता ने विकास भर विश्वास कर कमल का फूल खिलाया है. Also Read - Congress MP Dies of COVID-Related Complications: कोरोना की वजह से राहुल गांधी के करीबी कांग्रेस सांसद की मौत

Also Read - फिर टला कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, कोरोना संकट बना वजह; सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी निभाती रहेंगी

पीएम मोदी ने बनाया रिकॉर्ड, प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में लौटने वाले देश के तीसरे प्रधानमंत्री बने Also Read - Complete Lockdown in India: क्या पूरे देश में लॉकडाउन लगाएगी मोदी सरकार? अब कांग्रेस पार्टी ने भी की खास मांग

स्मृति ईरानी ने टि्वटर पर शेयर किए गए अपने पोस्ट में इस जीत को अमेठी की जनता का संकल्प करार दिया है. उन्होंने अपने पोस्ट में कहा है, ‘एक नई सुबह अमेठी के लिए, एक नया संकल्प. धन्यवाद अमेठी. शत शत नमन. आपने विकास पर विश्वास जताया, कमल का फूल खिलाया. अमेठी का आभार.’ आपको बता दें कि स्मृति ईरानी ने वर्ष 2014 का चुनाव भी अमेठी से ही लड़ा था, लेकिन उस बार वह 1 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से राहुल गांधी से हार गई थीं. लेकिन 2019 के चुनाव में स्मृति शुरुआत से ही यह दावा करती रहीं कि इस बार अमेठी में भाजपा का परचम लहराएगा. गुरुवार को जब लोकसभा चुनाव के नतीजे आए, तो स्मृति ईरानी के इस दावे की हकीकत सबके सामने जाहिर हो गई.

गुरुवार की देर रात तक चली मतगणना में स्मृति ने शुरुआत में बढ़त बनाई, लेकिन बीच के कुछ घंटों में राहुल गांधी फिर काफी मतों से आगे हो गए. लेकिन शाम ढलते-ढलते स्मृति ईरानी का ग्राफ चढ़ने लगा. देर रात लोकसभा चुनाव की मतगणना समाप्त होने के बाद भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 55,120 वोटों से जीत की दर्ज की. स्मृति ईरानी को 468514 वोट मिले जबकि प्रतिद्वंदी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को 413394 वोट हासिल हुए. ईरानी ने 55,120 वोटों से राहुल गांधी को हराया. जिलाधिकारी-जिला निर्वाचन अधिकारी राम मनोहर मिश्रा ने ईरानी के प्रतिनिधि विजय गुप्ता को जीत का प्रमाणपत्र सौंपा.

(इनपुट – एजेंसी)