नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी पर हमला करते हुए क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर ने रविवार को जोर दिया कि उनके पास केवल एक मतदाता पहचान पत्र है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में सत्तारूढ़ पार्टी उनके खिलाफ निराधार आरोप लगा रही है क्योंकि इसके पास लोगों के लिए कोई दृष्टिकोण नहीं है. बता दें कि इस आम चुनाव में गंभीर पूर्वी दिल्ली लोकसभा संसदीय क्षेत्र से आप की आतिशी के खिलाफ मैदान में हैं. गंभीर ने बताया, ” मेरा राजेन्द्र नगर का केवल एक मतदाता पहचान पत्र है. मैं बचपन में रामजस रोड (करोलबाग में) अपने नाना-नानी के पास रहता था, लेकिन मैंने कभी भी वहां से मतदान या वहां से किसी मतदाता पहचान पत्र के लिए आवेदन नहीं किया.” Also Read - शिवराज चौहान ने पूछा- क्या राहुल गांधी की कांग्रेस अलग है और कमलनाथ की कांग्रेस अलग?

बीजेपी उम्‍मीदवार गौतम गंभीर ने आम आदमी पार्टी की उम्‍मीदवार आतिशी के आरोप का जवाब देते हुए कहा, जब आपके पास कोई विजन नहीं होता है और आपने साढ़े चार साल तक कुछ नहीं किया, तो आप इस तरह के आरोप लगाते हैं. चुनाव आयोग ये तय करेगा. जब आपके पास विजन होता है तो आप ऐसी नकारात्‍मक राजनीति नहीं करते. Also Read - MP उपचुनाव: 18 प्रतिशत प्रत्याशियों पर हैं अपराधिक मामले, दागियों को टिकट देने में सपा-बीजेपी आगे

गंभीर, आतिशी के उस दावे पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे, जिसमें राजेन्द्र नगर और करोलबाल विधानसभा क्षेत्र से उन पर दो मतदाता पहचान पत्र रखने का आरोप लगाया गया था.उन्होंने आरोप लगाया कि आप प्रत्याशी ने मुझ पर इसलिए आरोप लगाया, क्योंकि उनके पास प्रचार के दौरान मतदाताओं से बात करने के लिए कुछ नहीं है.

गंभीर ने कहा, जब आपके पास लोगों के लिए नजरिया नहीं होता या बात करने के लिए नहीं होता तो आप इस तरह का आरोप लगाते हैं. इस बीच, दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को गंभीर के खिलाफ आतिशी की आपराधिक शिकायत के सिलसिले में एक मई को सुनवाई करने का निर्णय लिया.

आप प्रत्याशी ने जन प्रतिनिधित्व कानून (आरपीए) के उल्लंघन में एक से अधिक जगह पर एक मतदाता के रूप में कथित तौर पर नाम रखने को लेकर गंभीर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. आतिशी ने पूर्व क्रिकेटर खिलाड़ी द्वारा दायर किए गए नामांकन पत्रों पर भी आपत्ति व्यक्त की, जिसे निर्वाचन अधिकारी ने खारिज कर दिया.

गंभीर ने कहा कि वह सकारात्मक राजनीति में यकीन रखते हैं और पूर्वी दिल्ली को दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ लोकसभा सीटों में से एक बनाने के नजरिए के साथ प्रचार करेंगे और चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वियों के साथ आरोप-प्रत्यारोप करने से बचेंगे. कांग्रेस ने दिल्ली के पूर्व मंत्री अरविंदर सिंह लवली को इस सीट से मैदान में उतारा है.