रांची. भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को चुनाव आयोग से शिकायत की कि कुछ प्रशासनिक अधिकारी भाजपा कार्यकर्ताओं और समर्थकों के घर से जबरन पार्टी का झंडा उतरवा रहे हैं, जिससे आम जनता, कार्यकर्ता और समर्थकों के बीच भय का माहौल है. भाजपा प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने सोमवार को बताया कि भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात की और इस सम्बंध में एक शिकायत पत्र सौंपा. प्रतिनिधिमंडल में प्रभाकर के अलावा मीडिया सहप्रभारी संजय जायसवाल, विनोद साहू, शिव कुमार शर्मा तथा सुधीर श्रीवास्तव शामिल थे.

शिकायत मिलने के बाद चुनाव आयोग कार्यालय के बाहर प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने पत्रकारों को बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल ख्यांग्ते ने आश्वस्त किया है कि इस संबन्ध में उचित कदम उठाया जाएगा, ताकि किसी को परेशानी न हो. आयोग आचार संहिता का सही ढंग से पालन करवाएगा. प्रभाकर ने कहा कि कुछ एसडीओ व बीडीओ-सीओ स्तर के अधिकारी आचार संहिता के नाम पर मनमानी पर उतर आए हैं और पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर भाजपा कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों को परेशान कर रहे हैं और झंडा उतारने पर बाध्य कर रहे हैं. इस संबंध में कई जिलों से शिकायतें मिल रही हैं. अभी पार्टी एक सामान्य शिकायत दर्ज करवा रही है. अगर शिकायतें बंद नहीं हुईं तो दोषी पदाधिकारी के नाम पर शिकायत दर्ज कराया जाएगा.

उन्होंने कहा कि किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता, समर्थक या आम लोग अपनी मर्जी से निजी भवन पर पार्टी का झंडा या स्टीकर लगा सकते हैं. यह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है. सिर्फ होर्डिंग-बैनर लगाने की सूचना चुनाव आयोग को देनी पड़ती है. प्रभाकर ने कहा कि चुनाव आयोग को भयमुक्त व निष्पक्ष चुनाव करवाने में पार्टी पूर्ण सहयोग करेगी, लेकिन अधिकारियों को भी ध्यान रखना होगा कि आम जनता भयाक्रांत न हो.