नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई ने मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) से मस्जिदों पर विशेष पर्यवेक्षकों को नियुक्त करने का आग्रह किया है. लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं को ‘‘धार्मिक आधारों” पर प्रभावित किए जाने के प्रयास से बचाने के लिए पार्टी ने यह अनुरोध किया है. पार्टी का कहना है कि चुनाव के दौरान मस्जिदों से अल्पसंख्यक समुदाय को प्रभावित किया जा सकता है.

एक पत्र में प्रदेश भाजपा के कानून विभाग के संयोजक नीरज ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं पर धार्मिक आधारों पर मतदाताओं के ध्रुवीकरण का आरोप लगाते हुए सीईओ से मस्जिदों पर विशेष पर्यवेक्षक नियुक्त करने का आग्रह किया है.


नीरज ने आरोप लगाया, “आप संयोजक अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी के सदस्यों द्वारा धार्मिक आधारों पर मतदाताओं के ध्रुवीकरण के निरंतर प्रयासों के चलते हम आपको यह शिकायत लिखने पर विवश हुए हैं.” इस मुद्दे पर आप की तरफ से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है.