बेंगलुरूः भाजपा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत अनंत कुमार की पत्नी डॉ. तेजस्विनी अनंत कुमार को टिकट नहीं दिया है. भाजपा के वरिष्ठ नेता रहे अनंत कुमार का नवंबर 2018 में निधन हो गया था. अनंत कुमार 1996 से प्रतिष्ठित बेंगलुरू दक्षिण सीट जीतते रहे. वह यहां से लगातार 6 बार सांसद चुने गए. ऐसे में उम्मीद की जा रही थी कि अनंत कुमार की पत्नी को भाजपा टिकट देगी. लेकिन पार्टी ने कर्नाटक युवा मोर्चा के महासचिव तेजस्वी सूर्या को प्रतिष्ठित बेंगलुरू दक्षिण सीट से उम्मीदवार बनाया है. टिकट नहीं मिलने पर डॉ. तेजस्विनी ने कहा कि यह अचंभित करने वाला है लेकिन वह पार्टी के फैसले के साथ खड़ी हैं.

बेंगलुरू दक्षिण में 18 अप्रैल को चुनाव होना है. भाजपा के एक अधिकारी ने कहा कि पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति ने कर्नाटक उच्च न्यायालय में वकालत कर रहे 28 वर्षीय सूर्या को उम्मीदवार बनाया है.

उन्होंने कहा, “सूर्या हमारी राष्ट्रीय सोशल मीडिया टीम के भी सदस्य हैं.” यहां से ‘युवा तुर्क’ को उम्मीदवार बनाए जाने से दिवंगत केंद्रीय मंत्री एच.एन. अनंत कुमार की पत्नी की यहां से चुनाव लड़ने की उम्मीदों को झटका लगा है. पार्टी द्वारा चुने जाने के बाद सूर्या ने ट्वीट किया, “हे भगवान. हे भगवान. मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री और सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के अध्यक्ष ने बेंगलुरू दक्षिण जैसी प्रतिष्ठित सीट के लिए 28 वर्षीय युवक पर अपना विश्वास जताया है.” उन्होंने कहा, “यह सिर्फ भाजपा में हो सकता है. सिर्फ नरेंद्र मोदी के ‘न्यू इंडिया’ में.”

कांग्रेस ने सोमवार को राज्यसभा सदस्य बी.के. हरिप्रसाद को यहां से अपना प्रत्याशी घोषित किया था. भाजपा ने बेंगलुरू ग्रामीण लोकसभा सीट से अश्वत नारायण को अपना प्रत्याशी बनाया है जो यहां से कांग्रेस के सांसद डी.के. सुरेश को टक्कर देंगे. सुरेश यहां से दूसरी बार चुनाव लड़ेंगे.