जयपुरः लोकसभा चुनाव के मद्देनजर टिकट के लिए सभी पार्टियों में उठा-पटक चल रहा है, लेकिन राजस्थान में स्थिति थोड़ी अलग है. पिछले साल के अंत में विधानसभा चुनाव हारने वाली भाजपा के भीतर कम से कम नौ सीटों पर घमासाम मचा हुआ है. राज्य में लोकसभा की कुल 25 सीटें हैं. पार्टी ने अब तक 16 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं. उसने चुरू, बाड़मेर, अलवर, भरतपुर, करौली धौलपुर, राजसमंद, नागौर, दौसा और बासंवाड़ा के लिए नाम की घोषणा नहीं की. अलवर और दौसा के अलावा सात सीटों पर इस समय भाजपा के ही सांसद हैं. अलवर कांग्रेस के खाते में है जबकि दौसा के सांसद हरीश मीणा विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हो गए थे और इस समय विधायक हैं.

पार्टी सूत्रों की मानें तो राज्य की 16 सीटों के लिए घोषित ज्यादातर प्रत्याशी वही हैं जिनसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह या संघ का सीधा संबंध रहा है. बीकानेर से सांसद और केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल प्रधानमंत्री मोदी के करीबी माने जाते हैं. जयपुर से सांसद रामचरण बोहरा संघ पृष्ठभूमि के हैं. पार्टी ने स्थानीय स्तर पर विरोध को दरकिनार कर इन्हें उसी सीट पर बनाए रखा है.

मीणा बहुल दौसा सीट पर, पूर्वी राजस्थान में दमदार छवि रखने वाले किरौड़ीलाल मीणा की पत्नी और पूर्व विधायक गोलमा देवी के भाई जगमोहन मीणा दावेदार हैं. राजसमंद सीट पर भाजपा के मौजूदा सांसद हरिओम सिंह चुनाव नहीं लड़ना चाहते. यहां दीयाकुमारी और किरण महेश्वरी को टिकट का दावेदार माना जा रहा है. स्थानीय मीडिया में यह भी खबरें हैं कि इस सीट पर प्रत्याशी को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता गुलाब चंद कटारिया तथा पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे में सहमति नहीं है.

बाड़मेर सीट के लिए मौजूदा सांसद कर्नल सोनाराम की दावेदारी है. हालिया विधानसभा चुनाव हार चुके सोनाराम ने पिछले सप्ताह पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की. चुरू और नागौर सीट पर मौजूदा सांसदों को विरोध का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि पाली और बीकानेर सीट पर पार्टी नेतृत्व ने ऐसे विरोध को तरजीह नहीं देते हुए मौजूदा सांसदों को टिकट दी है.

राज्य में लोकसभा चुनाव दो चरणों में होंगे. 29 अप्रैल को 13 सीटों पर और छह मई को 12 सीटों पर चुनाव होगा. टोंक सवाई माधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालोर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, कोटा और झालावाड़ बारां सीट के लिए 29 अप्रैल को मतदान होगा. राज्य की गंगानगर, बीकानेर, झुंझुनू, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, अलवर, भरतपुर, करौली धौलपुर, दौसा और नागौर सीट के लिए छह मई को मतदान होगा.