नई दिल्लीः केंद्रीय मंत्री और भाजपा के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने अपनी सीट बदले जाने पर बेहद आक्रामक रुख अपनाया है. उन्होंने अपनी सीट बदले जाने का पूरा ठीकरा प्रदेश भाजपा इकाई पर फोड़ते हुए कहा है कि वह कभी भी अपने सम्मान से समझौता नहीं करेंगे. गिरिराज ने प्रदेशाध्यक्ष नित्यानंद राय पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें बताना चाहिए कि उनकी सीट क्यों बदली गई. उन्होंने प्रदेश इकाई से पूछा कि जब राज्य में किसी भी सांसद की सीट नहीं बदली गई तो उनकी सीट क्यों बदली गई. प्रदेश इकाई को यह बताना चाहिए कि ऐसा क्यों किया गया. उन्होंने कहा कि उनके मन में बेगूसराय के खिलाफ कुछ भी नहीं है लेकिन मैं अपने सम्मान से समझौता नहीं करूंगा.

गौरतलब है कि गिरिराज सिंह नावादा सीट से सांसद हैं. उनके लिए नावाद को सुरक्षित सीट माना जाता है. लेकिन इस बार एनडीए में सीट बंटवारे के चक्कर में नवादा सीट लोजपा को मिली है. लोजपा ने नवादा से भूमिहार नेता चंदन कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है. गिरिराज भी भूमिहार समुदाय से आते हैं. दूसरी तरफ बेगूसराय भी भूमिहार बहुल सीट है, लेकिन वहां से जेएनयू के छात्र संगठन के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार चुनाव लड़ रहे हैं. कन्हैया भी भूमिहार समुदाय से आते हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि बेगूसराय में गिरिराज पर ‘बाहरी’ होने का ठप्पा लग सकता है. जानकारों का कहना है कि अगर गिरिराज बेगूसराय से चुनाव लड़ते हैं तो वहां मुकाबला दिलचस्प होगा.

गिरिराज ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि उनकी नाराजगी केंद्रीय नेतृत्व नहीं राज्य के नेताओं से है. हमारे सहोयगी जी न्यूज से बातचीत ने गिरिराज ने कहा कि उन्हें केवल यह जानना है कि प्रदेश नेतृत्व ने उनकी सीट क्यों बदली. उन्होंने कहा कि प्रदेश नेतृत्व ने केंद्रीय नेतृत्व को सच्चाई नहीं बताई. उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय पर निशाना साधते हुए कहा कि वह सीट बदले जाने का कारण बताएं. गिरिराज सिंह ने इस बात पर भी नाराजगी जताई है कि राय ने उनकी सीट बदले जाने को लेकर उनके साथ कोई जानकारी साझा नहीं की.