पटना: करीब तीन दशक से भाजपा से जुड़े रहे नेता और हिंदी सिनेमा के जाने-माने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा गुरुवार को कांग्रेस में शामिल होंगे और वह पटना से कांग्रेस के लोकसभा उम्मीदवार होंगे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अखिलेश प्रसाद सिंह ने यह जानकारी दी. पटना स्थित बिहार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने मंगलवार को पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि शत्रुघ्न सिन्हा 28 मार्च को नई दिल्ली में पार्टी में शामिल होंगे. वह पटना साहिब से पार्टी के उम्मीदवार होंगे.

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- रीढ़ सीधा रखें मेरे पुराने मित्र रूडी, मैं आज ही छोड़ दूंगा बीजेपी, बशर्ते…

यह पूछे जाने पर कि क्या शत्रुघ्न, राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में शामिल होंगे, तो सिंह ने कहा कि इस कार्यक्रम में शीर्ष नेता होंगे लेकिन यह नहीं बता सकते कि कौन कौन खासतौर पर उस समय मौजूद रहेंगे. शत्रुघ्न सिन्हा का पटना साहिब सीट से दूसरा लोकसभा कार्यकाल है और इस बार भाजपा ने इस संसदीय क्षेत्र से उनके बजाए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को अपना उम्मीदवार घोषित किया है. कभी भाजपा के स्टार प्रचारकों में से शुमार रहे शत्रुघ्न अपनी पार्टी के भीतर महत्व नहीं दिए जाने से नाराज चल रहे थे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व की लगातार आलोचना करते रहे. उनके इस व्यवहार से यही कयास लगाए जा रहे थे कि वह दूसरे दलों में शामिल हो सकते हैं.

फोटो के साथ छेड़छाड़ से लेकर, होटल में कमरा नहीं मिलने तक… पढ़ें जया और आजम के तकरार के किस्से

बिहार में कांग्रेस अन्य विपक्षी दलों राजद एवं रालोसपा सहित अन्य छोटे दलों के “महागठबंधन” शामिल है. हाल में भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुये दरभंगा सांसद कीर्ति आज़ाद के चुनाव लड़ने के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा कि यह पार्टी द्वारा तय किया जाएगा. लोकसभा की दरभंगा सीट को लेकर महागठबंधन के घटक दलों कांग्रेस और राजद के बीच खींचतान जारी है. कांग्रेस जहां आजाद को दरभंगा से अपना उम्मीदवार बनाना चाहती है वहीं राजद अपने वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी को वहां से चुनावी मैदान में उतारना चाहती है.