कर्नाटक के दिग्गज भाजपा नेता वी श्रीनिवास प्रसाद ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाने को लेकर अपने ही नेता और पीएम नरेंद्र मोदी की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को इस तरह नहीं बोलना चाहिए. श्रीनिवास चामराजनगर सीट से सांसद रहने के साथ पूर्व पीएम दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री रह चुके हैं. वह मैसूर क्षेत्र के बड़े दलित नेता हैं. वह भाजपा छोड़कर कांग्रेस में चले गए थे. वह पूर्व की सिद्दारमैया सरकार में मंत्री भी रहे. हालांकि, वह एक बार फिर कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आ गए. इस लोकसभा चुनाव में वह भाजपा के टिकट पर चामराजनगर सीट से चुनाव पड़ रहे हैं.

दरअसल, पीएम मोदी ने कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में एक चुनावी सभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा था कि आपके पिता एक भ्रष्टाचारी थे. पीएम ने कहा था कि आपके पिता को उनके दरबारी पहले मिस्टर क्लीन कहते थे लेकिन उनका जीवन भ्रष्टाचारी नंबर एक के रूप में समाप्त हुआ. कांग्रेस पार्टी और उनके नेता खासकर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी के इस बयान को एक शहीद का अपमान बताया था.

राजीव गांधी के बारे में पीएम की इस टिप्पणी पर श्रीनिवास प्रसाद ने कहा कि बोफोर्स तोप सौदे में राजीव गांधी पर आरोप लगाना ठीक नहीं है. पीएम मोदी को इस तरह नहीं बोलना चाहिए. राजीव गांधी का नाम घसीटना गैरजरूरी है. प्रसाद ने मोदी के उस बयान की भी आलोचना की जिसमें उन्होंने कहा था कि राजीव गांधी की मौत भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण हुई. उन्होंने कहा कि आतंकी संगठन एलटीटी ने राजीव गांधी की हत्या की.

श्रीनिवास प्रसाद ने आगे कहा कि वह पीएम मोदी को बहुत सम्मान करते हैं लेकिन उनकी पार्टी के सबसे कद्दावर नेता रहे अटल बिहारी वाजपेयी ने भी राजीव गांधी के बारे में कई अच्छी बातें कही थीं. उन्होंने कहा कि वह खुद मानते हैं कि राजीव गांधी ने कम उम्र में बड़ी जिम्मेवारी उठाई थी.