भाजपा ने सोमवार को लोकसभा चुनाव-2019 के लिए अपना घोषणापत्र (BJP Manifesto) जारी कर दिया. संकल्प पत्र के नाम से जारी इस घोषणा पत्र में कई अहम वादे किए गए हैं. पार्टी ने कहा है कि वह पीएम नरेंद्र मोदी ने नेतृत्व में अगले पांच साल में इन वादों को पूरा करने का वादा करती है. भाजपा संकल्प पत्र निर्माण समिति के अध्यक्ष केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी की अध्यक्षता में इसे जारी किया. इस मौके पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद थीं.

संकल्प पत्र की अहम बातें

1. भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में छोटे और सीमांत किसानों को 60 साल की उम्र के बाद पेंशन देने का वादा किया है. हालांकि इसमें पेंशन की राशि का कोई जिक्र नहीं है.
2. पार्टी ने छोटे कारोबारियों को भी 60 साल की उम्र के बाद पेंशन देने का वादा किया है.
3. पार्टी ने सभी तरह के किसानों को किसान सम्मान निधि देने का वादा किया है. इस साल के बजट में मोदी सरकार ने दो एकड़ से कम भूमि वाले किसानों को सालाना 6 हजार रुपये देने की बात कही थी. अब सभी किसानों को ये सम्मान निधि मिलेगी.
4. किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लिए गए एक लाख रुपये के ऋण पर पांच साल तक ब्याज नहीं लगेगा.
5. लॉ, मैनेजमेंट और इंजीनियरिंग कॉलेजों में सीटों की संख्या बढ़ाई जाएगी. 75 मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे.
6. भाजपा ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में सरकार आतंकवाद के प्रति जीरो टोलरेंट की नीति अपनाई जाएगी.
7. 200 नए केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालयों का निर्माण, 2024 तक एमबीबीएस और स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की संख्या दोगुनी होगी.
8. सभी आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं को आयुष्मान भारत के तहत लाया जाएगा.
9. कृषि क्षेत्र में उत्पादकता बढ़ाने के लिए 25 लाख करोड़ रुपये का निवेश होगा.
10. 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केन्द्रों में टेलीमेडिसिन और डायग्नोस्टिक लैब सुवाधाएं विकसित किए जाएंगे.

कांग्रेस ने किए हैं ये वादे

1. कांग्रेस ने पार्टी ने देश भर में किसानों का ऋण माफ करने का वादा किया है.
2. मनरेगा के तहत कार्य दिवस 100 से बढ़ाकर 150 दिन करने का वादा.
3. न्याय योजना के तहत देश के सबसे गरीब करीब 5 करोड़ परिवारों को 6 हजार रुपये मासिक यानी 72 हजार रुपये सालाना देने का वादा.
4. मार्च 2020 तक सभी खाली 22 लाख सरकारी पदों को भरने का वादा.
5. पार्टी ने ‘बिना किसी भेदभाव के’ भ्रष्टाचार-रोधी कानून लागू करने का वादा किया है.
6. जम्मू एवं कश्मीर में स्थिति बेहतर करेगी तथा सैन्य बल (विशेष बल) अधिनियम (AFSPA) और जम्मू एवं कश्मीर में अशांत क्षेत्र अधिनियम की समीक्षा भी करेगी.
7- घोषणापत्र में जम्मू एवं कश्मीर के छात्रों, व्यापारियों एवं अन्य को सुरक्षा और पढ़ाई के अधिकार के साथ-साथ देश में कहीं भी व्यापार करने की सुविधा देने का वादा किया गया.
8. जम्मू एवं कश्मीर के बारे में घोषणापत्र में यह भी कहा गया है, “हम दो-तरफा दृष्टिकोण अपनाएंगे- पहला, सीमा पर बिना किसी किंतु-परंतु के साथ पूरी मजबूती तथा घुसपैठ को खत्म करेंगे और दूसरा, जनता की मांगों को पूरा करने में निष्पक्षता दिखाते हुए उनका दिल और दिमाग जीतेंगे.”
9. पूर्वोत्तर राज्यों के लिए, पार्टी ने विशेष राज्य का दर्जा तथा औद्योगिक नीति लागू करने का वादा किया.
10. घोषणापत्र में ‘काम’-रोजगार और वृद्धि, ‘दाम’-अर्थव्यवस्था जो सभी के लिए काम करे, भावना पर काम करने की बात कही गई है.