नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में टिकट कटने से नाराज भाजपा सांसद उदित राज बुधवार को कांग्रेस में शामिल हो गए और दावा किया कि केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी ‘दलित विरोधी’ है. उदित राज ने बुधवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की जिन्होंने पार्टी में उनका स्वागत किया.

 

पार्टी में शामिल होने के बाद उदित राज ने संवाददाताओं से कहा कि मैं कांग्रेस में शामिल होकर बहुत खुश हूं. उन्होंने कहा कि पार्टी के आंतरिक सर्वेक्षण में मेरी जीत तय बताई गई थी. दूसरे चैनलों के सर्वेक्षण में भी मैं जीत रहा था. इसके बावजूद मेरा टिकट काटा गया. उदित राज ने कहा कि पार्टी में रहते हुए उन्होंने दलित मुद्दों पर हमेशा आवाज उठाई. उन्होंने कहा कि दो अप्रैल (2018) के भारत बंद पर उन्होंने अपनी स्पष्ट राय रखी थी. सबरीमला मंदिर पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का भी उन्होंने समर्थन किया था और सवाल किया था कि आखिर महिलाएं मंदिर में क्यों नहीं जा सकतीं?

पीएम मोदी के लिए कुर्ते सिलवाती हैं ममता दीदी, शेख हसीना भेजती हैं स्‍पेशल मिठाईयां

बीजेपी ने उत्तर पश्चिमी दिल्ली सीट से हंसराज हंस को बनाया उम्‍मीदवार
उन्होंने कहा कि भाजपा दलित विरोधी पार्टी है. इसके बारे में मैं पूरा विवरण सामने रखूंगा. पिछले लोकसभा चुनाव में उत्तर पश्चिमी दिल्ली सीट से भाजपा के टिकट पर सांसद बने उदित राज को इस बार टिकट नहीं मिला. इसके बाद से वह खुलकर नाराजगी जाहिर कर रहे थे. उदित राज की जगह भाजपा ने उत्तर पश्चिमी दिल्ली सीट से पंजाबी गायक हंसराज हंस को उम्मीदवार बनाया है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com