अहमदाबाद: भाजपा अध्यक्ष और पार्टी के गांधीनगर से उम्मीदवार अमित शाह ने शनिवार को यहां रोडशो किया जहां उन्होंने लोगों से ‘‘पूरा कश्मीर हमारा है’’ के नारे लगाने के लिए कहा. पीडीपी प्रमुख और जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने हाल ही में शाह की आलोचना की थी कि वह कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाने का ‘‘दिवास्वप्न’’ देख रहे हैं. इसके बाद शाह ने कश्मीर के नारे लगवाए.

शाह ने पार्टी के 39वें स्थापना दिवस पर अपने चुनाव प्रचार अभियान के तौर पर शहर में रोडशो किया. अहमदाबाद के सरखेज इलाके से सुबह करीब नौ बजे शुरू हुए रोडशो से पहले शाह ने जनसंघ के संस्थापक दीनदयाल उपाध्याय और श्यामाप्रसाद मुखर्जी की तस्वीरों पर माल्यार्पण किया. शाह ने वहां मौजूद लोगों से ‘‘जहां हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है, सारा का सारा हमारा है’’ के नारे लगाने के लिए कहा. शाह ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जीतू वघानी के साथ एक खुले वाहन में रोडशो शुरू किया. रोडशो अहमदाबाद शहर के कई हिस्सों से होकर गुजरा जो गांधीनगर निर्वाचन क्षेत्र के तहत आता है.

उमा भारती के इंकार के बाद हाईप्रोफाइल सीट झांसी से गैर राजनीतिक शख्स को टिकट, इसलिए मिला महत्व

वेजलपुर, आनंदनगर, जीवराज पार्क, मानसी क्रॉस रोड इलाकों के अलावा रोडशो मुस्लिम बहुल जुहापुरा इलाके से भी होकर गुजरा. यह दोपहर करीब एक बजे वस्त्रपुर इलाके में हवेली पर खत्म हुआ. करीब दस किलोमीटर का रोडशो ग्रामीण के साथ-साथ पॉश इलाकों से होकर गुजरा जहां झुलसाने वाली गर्मी के बावजूद लोग शाह का स्वागत करने बाहर निकले. भाजपा प्रमुख ने हाथ हिलाकर उनका अभिवादन किया. गुजरात से राज्यसभा सदस्य शाह के शनिवार रात को उनके निर्वाचन क्षेत्र के बोपल इलाके में पार्टी कार्यकर्ताओं से भी मिलने की उम्मीद है.

उन्हें गांधीनगर सीट से भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के स्थान पर उतारा गया है. आडवाणी साल 1998 से इस सीट पर जीतते रहे हैं. यह शाह का पहला लोकसभा चुनाव है. भाजपा अध्यक्ष ने वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और मुख्यमंत्री विजय रुपाणी की मौजूदगी में गत शनिवार को अपना नामांकन दाखिल किया था.