रांचीः भाजपा ने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए शनिवार को जिन 48 सीटों के लिए अपने उम्मीदवार घोषित किये, उनमें से 10 झारखंड की हैं और खूंटी सीट को छोड़ कर सभी सीटों पर मौजूदा सांसदों को एक बार फिर मौका दिया गया है. भाजपा ने एक विज्ञप्ति में बताया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में शनिवार को नयी दिल्ली में हुई केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक में जिन 48 लोकसभा सीटों के लिए पार्टी के उम्मीदवारों के नाम तय किये गये हैं उनमें 10 सीटें झारखंड की भी शामिल हैं.

शनिवार को जारी सूची के अनुसार झारखंड में 14 में से 10 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम तय कर दिये गये हैं और इनमें सिर्फ खूंटी सीट पर उम्मीदवार बदला गया है. खूंटी से आठ बार के विजेता रहे कड़िया मुंडा की जगह पार्टी राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को अपना उम्मीदवार बनायेगी. अन्य सभी नौ सीटों पर 2014 में पार्टी की ओर से चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को ही एक बार फिर मौका दिया गया है.

अर्जुन मंडा ने एक बयान में कहा, ‘‘पार्टी का निर्णय सिर-माथे पर. मैं पूरी ताकत से पार्टी द्वारा दी गयी जिम्मेदारी को निभाऊंगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इन चुनावों में दो ही प्रमुख मुद्दे हैं, एक तो राष्ट्रीय सुरक्षा और दूसरे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दोबारा देश का प्रधानमंत्री बनाना, जिससे राष्ट्र और तेजी से आगे विकास कर सके.’’

अर्जुन मुंडा 2009 में राज्य की जमशेदपुर सीट से सांसद चुने गये थे, जबकि उनकी विधानसभा सीट पड़ोस की सरायकेला-खरसांवा है जहां से वह पिछला विधानसभा चुनाव हार गये थे. हालांकि पार्टी ने अब तक रांची, चतरा और कोडरमा की सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम तय नहीं किये हैं.

आज की सूची के अनुसार अर्जुन मुंडा के अलावा धनबाद से पीएन सिंह, हजारीबाग से जयंत सिन्हा, जमशेदपुर से विद्युतवरण महतो, गोड्डा से निशिकांत दूबे, सिंहभूम से लक्ष्मण गिलुवा, लोहरदगा से सुदर्शन भगत, पलामू से पूर्व पुलिस महानिदेशक वीडी राम, राजमहल से पिछली बार चुनाव हार चुके हेमलाल मुर्मू और दुमका से 2014 का चुनाव हार चुके सुनील सोरेन भाग्य आजमायेंगे. वर्ष 2014 की मोदी लहर में भाजपा ने झारखंड में अपने बूते 14 में से 12 सीटें जीती थीं और शेष दो सीटें मुख्य विपक्षी झारखंड मुक्ति मोर्चा की झोली में गयी थीं.