नई दिल्ली : लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections 2019) के लिए कांग्रेस के घोषणापत्र (Congress Manifesto) पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा (BJP) ने कहा है कि कांग्रेस ऐसे वादे कर रही है, जो खतरनाक हैं. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने कांग्रेस के मेनिफेस्टो में किए गए वादों पर कहा कि ये देश को तोड़ने वाले वादे हैं. उन्होंने कहा कि राजद्रोह के कानून को खत्म करने जैसे वादे करने वाली कांग्रेस एक भी वोट पाने की हकदार नहीं है. Also Read - भाजपा सरकार की न तो नीतियां सही हैं, नीयत, योगी राज में विकास का पहिया थम गया है : अखिलेश

जेटली ने आरोप लगाया कि कांग्रेस का आज का नेतृत्व जिहादियों और माओवादियों के चंगुल में है. कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में कहा कि IPC से सेक्शन 124-A हटा दिया जाएगा यानी देशद्रोह करना अपराध नहीं रहेगा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का घोषणापत्र देश की एकता के खिलाफ है. वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में कई ऐसी बातें हैं जो देश को तोड़ने वाली हैं. नेहरू-गांधी परिवार की जम्मू कश्मीर को लेकर जो ऐतिहासिक भूल थी, उस एजेंडा को ये आगे बढ़ा रहे हैं. जेटली ने कहा कि राहुल गांधी ने अपने चुनावी वादे में इस बात का भी जिक्र किया है कि जम्मू-कश्मीर में सेना और अर्धसैनिक बलों की तैनाती में कमी के साथ AFSPA (Armed Forces Special Powers Act) की समीक्षा की जाएगी. Also Read - एकनाथ खडसे ने भाजपा छोड़ कहा- देवेंद्र फडणवीस ने मेरा जीवन बर्बाद किया, NCP में शामिल होऊंगा

कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में गरीबों के लिए 72,000 रुपये की जिस ‘न्याय’ स्कीम की बात कही है, उसे लेकर जेटली ने कहा कि कांग्रेस की न्याय योजना की कुछ और बातें आज सामने आई हैं. ये केंद्र की योजना नहीं है, इसके साधन केंद्र से भी आएंगे और राज्य से भी आएंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पहले यह बात नहीं कही थी कि ये केंद्र और राज्य की संयुक्त योजना होगी. जेटली ने कहा कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में कश्मीरी पंडितों की तकलीफ का जिक्र नहीं किया. Also Read - बिहार में 23 अक्टूबर को राहुल गांधी और तेजस्वी यादव साथ में रैली करेंगे, ये है कार्यक्रम