नई दिल्ली. चुनाव प्रचार के दौरान विपक्षी उम्मीदवारों के लिए अमर्यादित आचरण और अभद्र भाषा का प्रयोग करने को लेकर निर्वाचन आयोग ने सोमवार को यूपी के 4 प्रमुख नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की. लेकिन लगता है बहुजन समाज पार्टी के फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट से उम्मीदवार को इसका इल्म नहीं था. इसलिए बसपा प्रत्याशी गुड्डू पंडित ने विपक्ष के कांग्रेसी उम्मीदवार राज बब्बर के लिए ऐसी ही भाषा का प्रयोग किया है. मंगलवार को मीडिया में जारी किए गए एक वीडियो में बसपा उम्मीदवार गुड्डू पंडित सरेआम राज बब्बर और उनके समर्थकों को धमकाते नजर आ रहे हैं. पंडित को इस वीडियो में कहते सुना जा सकता है, ‘ सुन लो राज बब्बर के कुत्तों, तुमको और तुम्हारे नेता नचनिया को दौड़ा-दौड़ा के जूतों से मारूंगा.’ गुड्डू पंडित के इस बयान को लेकर यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और फतेहपुर लोकसभा सीट से पार्टी के प्रत्याशी राज बब्बर ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वे इस मुद्दे पर पंडित को कुछ नहीं कहेंगे.

उत्तर प्रदेश में बसपा उम्मीदवार के इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बवाल मच गया है. ऐसे में जबकि एक दिन पहले ही निर्वाचन आयोग ने चुनाव प्रचार के दौरान अभद्र भाषा और अमर्यादित आचरण को लेकर कार्रवाई की हो, उसके बावजूद गुड्डू पंडित का यह वीडियो आयोग की लचर कार्यप्रणाली पर ही सवाल उठाता है. सोशल मीडिया में इस वीडियो को लेकर लोगों ने चुनाव आयोग से बसपा प्रत्याशी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. इस वीडियो में बसपा नेता गुड्डू पंडित ने कांग्रेस के यूपी प्रदेश अध्यक्ष को सरेआम धमकी दी है. पंडित ने इस वीडियो में कहा है, ‘सुन लो राज बब्बर के कुत्तों, तुमको और तुम्हारे नेता नचनिया को दौड़ा-दौड़ा के जूतों से मारूंगा जो झूठ फैलाया समाज में. जहां मिलेगा, गंगा मां की सौगंध तुझे जूतों से मारूंगा, तुझे और तेरे दलालों को.’

इधर, गुड्डू पंडित के बयान को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. सोशल मीडिया पर कई इंटरनेट यूजर्स, पत्रकारों ने निर्वाचन आयोग से पंडित के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर कार्रवाई करने की मांग की है. हालांकि इस मामले में अभी तक आयोग की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. वहीं, यूपी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट से पार्टी के उम्मीदवार राज बब्बर ने गुड्डू पंडित के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. बब्बर ने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए कहा, ‘उनके माता-पिता ने उनको नसीहत दी होगी, वो उन तक नहीं पहुंची तो राज बब्बर की क्या औकात कि उनको कहे?’