नई दिल्ली: बसपा प्रमुख मायावती ने लोगों को बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं देते हुए पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर हमला बोला है. मायावती ने कहा कि मानवतावाद के मसीहा तथागत गौतम बुद्ध के संदेश मानवता के लिए अमूल्य निधि हैं. उनके संदेशों के जरिए देश और दुनिया में शांति आ सकती है. वहीं, दी-योगी की डबल इंजन वाली सरकार ने विकास के बजाए केवल जाति व साम्प्रदायिक उन्माद, घृणा व हिंसा ही देश को दिया है, जो अति-दुःखद है.

आखिरी चरण: नरेंद्र मोदी सहित 918 प्रत्याशी मैदान में, 8 राज्यों में 10 करोड़ मतदाता करेंगे वोट

मायावती ने एक के बाद एक चार ट्वीट किए. इसमें उन्होंने कहा कि पीएम श्री मोदी का गुजरात माडल यूपी के पूर्वांचल की भी अति-गरीबी, बेरोजगारी व पिछड़ेपन को दूर करने में थोड़ा भी सफल नहीं हो सका, जो घोर वादाखिलाफी है. मोदी-योगी की डबल इंजन वाली सरकार ने विकास के बजाए केवल जाति व साम्प्रदायिक उन्माद, घृणा व हिंसा ही देश को दिया है, जो अति-दुःखद.

मायावती ने कहा कि पूर्वांचल के साथ वादाखिलाफी व विश्वासघात तब हुआ है जब पीएम व यूपी के सीएम इसी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं. योगी को तो गोरखपुर ने ठुकरा दिया है तो क्या ऐसे में पीएम श्री मोदी की जीत से ज्यादा वाराणसी में उनकी हार ऐतिहासिक नहीं होगी? क्या वाराणसी 1977 का रायबरेली दोहराएगा?

उन्होंने कहा कि मानवतावाद के मसीहा तथागत गौतम बुद्ध का शान्ति, अहिंसा, करुणा और दया का संदेश सम्पूर्ण मानवता के लिए ऐसी अमूल्य निधि है जिसकी बदौलत अपने देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में शान्ति व सद्भाव का वातावरण सृजित किया जा सकता है, जिसकी आज सख्त जरूरत भी है. जिसके बिना समाज व देश बिखर रहा है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com