भोपाल: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं भोपाल लोकसभा सीट से पार्टी प्रत्याशी दिग्विजय सिंह एवं कम्प्यूटर बाबा ने हजारों साधु-संतों के साथ यहां मुस्लिम बहुल इलाके में बुधवार को रोड शो किया. इस दौरान जय श्रीराम के नारे लगाए. शहर के भवानी चौक से लाल परेड ग्राउंड तक रोड शो आयोजित किया गया. दिलचस्प बात यह है कि रोड शो के दौरान दिग्विजय सिंह और कम्प्यूटर बाबा को घेरे हुए कई महिला और पुरुष सादे कपड़ों में भगवा गमछे ओढ़े हुए थे. इनमें से कुछ लोगों ने दावा किया कि वे पुलिसकर्मी हैं. इसकी फुटेज भी स्थानीय टीवी चैनलों में दिखायी गई.

हालांकि, भोपाल जोन के पुलिस महानिरीक्षक जयदीप प्रसाद ने दावा किया कि इस रोड शो में कोई भी पुलिस कर्मचारी भगवा गमछा नहीं ओढ़े हुए था. पुलिसकर्मियों के भगवे गमछे ओढ़ने और इस संबंध में स्थानीय टीवी चैनलों में दिखाई गई फुटेज के बारे में पूछे जाने पर प्रसाद ने से कहा, यह गलत है. वे पार्टी (कांग्रेस) के स्वयंसेवक हैं. पुलिस का कोई भी व्यक्ति गमछा पहने हुए नहीं था.

मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट पर दिग्विजय सिंह का मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर से है. प्रज्ञा वर्ष 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं और फिलहाल जमानत पर हैं.

शहर के भवानी चौक से लाल परेड ग्राउंड तक आयोजित रोड शो में भगवा धारण किए हुए साधु-संत कांग्रेस के झंडे लिए हुए थे और जय श्रीराम के नारे लगा रहे थे. उनमें से कुछ ने कहा कि अयोध्या में जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए.

इससे एक दिन पहले दिग्विजय को भोपाल लोकसभा सीट से जिताने के लिए कम्प्यूटर बाबा ने यहां धूनी जलाकर अनुष्ठान किया था. इसमें कंप्यूटर बाबा की अगुवाई में सैकड़ों साधु-संतों ने हठयोग किया था. इसमें दिग्जिवय सिंह अपनी पत्नी अमृता सिंह के साथ पूजा और हवन करते नजर आए थे.

मालूम हो कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज शाम छह बजे भोपाल संसदीय क्षेत्र की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के समर्थन में भोपाल के इसी भवानी चौक से रोड शो निकालेंगे जो मुस्लिम बहुल इलाके से होते हुए शहर के नादरा तक जाएगा.