नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में स्पष्ट किया कि उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष ‘चौकीदार चोर है’ टिप्पणी के लिए माफी क्यों मांगी और कहा कि उन्होंने ऐसा सिर्फ इसलिए किया क्योंकि मामला विचाराधीन है. राहुल ने कहा, “मैंने सर्वोच्च न्यायालय से माफी मांगी क्योंकि मामला विचाराधीन है. इस मामले में कोई भी टिप्पणी अनुचित थी. न तो मैंने प्रधानमंत्री से और न ही भाजपा से माफी मांगी है.”

उन्होंने कहा “इसके अलावा चोर टिप्पणी अब देश भर में सुनाई दे रही है. टिप्पणी कायम है. आप कहीं भी जाएं और ‘चौकीदार’ कहे तो लोग साथ ही ‘चोर है’ कहेंगे.” वह इस सप्ताह की शुरुआत में सर्वोच्च न्यायालय से माफी मांगने को लेकर किए गए एक सवाल का जवाब दे रहे थे. शीर्ष अदालत ने मौखिक रूप से माफी मांगने के बाद भी कांग्रेस अध्यक्ष को फटकार लगाई थी और उन्हें टिप्पणी के मामले में सुधार करने का तीसरा मौका दिया है.