नयी दिल्ली: मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने 17वीं लोकसभा के लिये संपन्न हुए चुनाव में जीते उम्मीदवारों की सूची शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंप दी. राष्ट्रपति को चुनाव परिणाम सौंपे जाने के समय निर्वाचन आयुक्त अशोक लवासा और सुशील चंद्रा भी अरोड़ा के साथ थे. चुनाव परिणाम के आधार पर 17वीं लोकसभा का गठन होगा.

 

इसके पहले राष्ट्रपति कोविंद ने केन्द्रीय मंत्रिमंडल की सिफारिश पर 16वीं लोकसभा को भंग कर दिया. इसके साथ ही 17वीं लोकसभा के गठन की औपचारिक शुरुआत हो गयी. निर्वाचन आयोग ने लोकसभा की 543 सीटों पर मतदान के लिये 10 मार्च को चुनाव कार्यक्रम घोषित किया था. सात चरणों में, 11 अप्रैल से 19 मई तक, लोकसभा की 542 सीट पर हुये मतदान के बाद 23 मई को मतगणना हुयी. तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर धनबल के इस्तेमाल की शिकायतों के आधार पर आयोग ने मतदान से पहले ही चुनाव स्थगित कर दिया था. इस सीट पर अभी चुनाव होना बाकी है.

 

पीएम मोदी ने बनाया रिकॉर्ड, प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में लौटने वाले देश के तीसरे प्रधानमंत्री बने

दो दिन तक चली मतगणना में भाजपा को मिली सबसे ज्यादा 303 सीट
दो दिन तक चली मतगणना के बाद शुक्रवार को घोषित चुनाव परिणाम के आधार पर सत्तारूढ़ भाजपा को सर्वाधिक 303 सीट मिलीं. वहीं, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस महज 52 सीट पर सिमट गयी. चुनाव कार्यक्रम के मुताबिक आयोग को 17वीं लोकसभा के चुनाव की प्रकिया 27 मई से पहले पूरी करनी है.

मोदी-आंधी ने काट दी वंशवाद की बेल, परिवारवाद का सूपड़ा हुआ साफ