नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण के लिए सोमवार को वोटिंग हो रही है. 72 सीटों पर हो रही इस वोटिंग पर गौर करें तो साल 2014 में बीजेपी ने तकरीबन 63% सीटों पर जीत हासिल की थी. सोमवार को मतदान जैसे ही शुरु हुआ पश्चिम बंगाल के आसनसोल की कई बूथों पर विवाद शुरू हो गया. यह देखते ही देखते हिंसा में तब्दील हो गया. टीएमसी और बीजेपी समर्थक आपस में भिड़ गए, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक पोलिंग बूथ के अंदर बीजेपी नेता बाबुल सुप्रीयो की भी कुछ लोगों के साथ भिड़ंत हो गई. बता दें कि वोटिंग के पहले से ही बीजेपी कार्यकर्ता पोलिंग स्टेशन पर केंद्रीय फोर्स की तैनाती की मांग कर रहे थे. इसके बाद कुछ पोलिंग बूथ पर इनकी तैनाती हुई थी. फिर भी कुछ बूथ पर नहीं हो पाई थी.

बीजेपी और टीएमसी समर्थकों के बीच झड़प के बाद आसनसोल की पांडाबेश्वर विधानसभा में स्थिति बिगड़ गई. यहां बाबुल सुप्रीयो की गाड़ी पर पथराव कर दिया गया और शीशा तोड़ दिया गया. इसके बाद बीजेपी कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे और मतदान भी कुछ समय के लिए रोक दिया.