छिंदवाड़ा: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को कहा कि उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह से आग्रह किया है कि यदि वह लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं तो कांग्रेस के लिये प्रदेश में कुछ कठिन सीटों में से एक पर वह चुनाव लड़ें. कमलनाथ ने कहा, ‘‘मैंने दिग्वियज सिंह (राज्यसभा सांसद) से आग्रह किया है कि यदि वह चुनाव लड़ना चाहते हैं तो वह किसी कठिन सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ें.’’ परोक्ष तौर पर भोपाल और इन्दौर जैसी लोकसभा सीटों की बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘प्रदेश में 2-3 लोकसभा सीटें ऐसी हैं जहां से हम 30-35 सालों से जीते नहीं हैं.’’ उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री सिंह स्वयं तय कर लें कि वह कहां से चुनाव लड़ना चाहते हैं. Also Read - कांग्रेस का मोदी सरकार से सवाल, कितने करोड़ लोगों को कोरोना का मुफ्त टीका मिलेगा और किसको नहीं मिलेगा?

केंद्रीय मंत्री उमा भारती का अमित शाह से अनुरोध- ‘मुझे टिकट न दें, अब गंगा किनारे समय बिताना है’ Also Read - Ayodhya Ram Temple: राम मंदिर निर्माण के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक लाख रुपये का दिया दान

एक सवाल के उत्तर में उन्होंने कहा कि अगले 3-4 दिन में लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश से कांग्रेस उम्मीदवारों के टिकट वितरण का काम शुरू होगा. कांग्रेस सूत्र के मुताबिक कमलनाथ चाहते हैं कि दिग्वियज सिंह भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ें. भोपाल से कांग्रेस वर्ष 1989 के बाद से चुनाव नहीं जीती है. मुख्यमंत्री कमलनाथ दो दिवसीय छिंदवाड़ा के दौरे पर आये हैं. यहां वह 11 चुनावी सभाओं को सम्बोधित करेंगे. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

जहां से लड़ीं थी इंदिरा गांधी और सोनिया… अब वहां से राहुल गांधी के लड़ने की शुरू हुई मांग

छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से कमलनाथ के पुत्र नकुल नाथ के कांग्रेस उम्मीदवार बनने की उम्मीद है. इसके साथ ही कमलनाथ 29 अप्रैल को छिंदवाड़ा से विधानसभा सीट का उपचुनाव लड़ेंगे. कमलनाथ छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से नौ दफा सांसद रहे हैं. मुख्यमंत्री बनने के बाद नियमानुसार छह माह के अंदर उन्हें मध्यप्रदेश विधानसभा का सदस्य निर्वाचित होना है. उपचुनाव कराने के लिये दीपक सक्सेना ने छिंदवाड़ा विधानसभा सीट से इस्तीफा देकर कमलनाथ के लिये रास्ता साफ कर दिया था.