इंदौर: मध्यप्रदेश के इंदौर लोकसभा क्षेत्र में लगातार चुनावी सरगर्मियां बढ़ने के बीच भाजपा और कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर सामने आ रहे कंटेंट के आधार पर एक-दूसरे के खिलाफ आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की शिकायतों का सिलसिला तेज कर दिया है. इन शिकायतों में बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान द्वारा बालाकोट एयर स्ट्राइक से जुड़े इंडियन एयरफोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का चुनाव प्रचार में नाम लिए जाने और आयकर छापों के दौरान राज्‍य की कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) के घर के बाहर महिला पुलिस कप्तान के दिखायी देने को लेकर जताई गई आपत्तियां शामिल हैं. दोनों शिकायतों से जुड़ा ऑडियो और वीडियो कंटेंट सोशल मीडिया पर पहले ही वायरल हो चुका है.

जानकारों के मुताबिक, सोशल मीडिया के चुनावी दुरुपयोग पर अंकुश लगाना कानून प्रवर्तन एजेंसियों के सामने बड़ी चुनौती है. इस बारे में पूछे जाने पर जिला निर्वाचन अधिकारी लोकेश कुमार जाटव ने मंगलवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा, “हम सोशल मीडिया की सतत निगरानी कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर एक (आपत्तिजनक) वीडियो अपलोड किए जाने पर पहले ही प्राथमिकी दर्ज कराई जा चुकी है.”

जाटव ने भरोसा दिलाया कि जिला निर्वाचन कार्यालय आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की ऐसी तमाम शिकायतों का परीक्षण कर उचित कदम उठाएगा, जो सोशल मीडिया के जरिए उसके संज्ञान में आ रही हैं. इस बीच, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने बताया, “शिवराज ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में शामिल विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का सोमवार को यहां बीजेपी की चुनावी रैली में केवल एक बार नहीं, बल्कि तीन बार नाम लिया था और अपनी पार्टी के लिए वोट मांगे थे. सोशल मीडिया के जरिये इसकी जानकारी मिलने पर हमने आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की है, क्योंकि चुनाव प्रचार में सैनिकों का नाम लिए जाने के खिलाफ निर्वाचन आयोग पहले ही निर्देश जारी कर चुका है.”

इस शिकायत के हवाले के साथ मीडिया के यह पूछे जाने पर कि क्या जिला निर्वाचन कार्यालय के पास शिवराज के इस संबोधन की वीडियो रिकॉर्डिंग उपलब्ध है, जिला निर्वाचन अधिकारी जाटव ने विशिष्ट जवाब दिये बगैर कहा, “हर उस चुनावी कार्यक्रम में हमारे वीडियोग्राफर तैनात होते हैं, जिसके आयोजन की अनुमति हम देते हैं. हमारे पास ऐसे पूरे कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग होती है.”

उधर, भाजपा ने कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के ठिकानों पर आयकर छापे जारी रहने के दौरान इंदौर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रुचि वर्धन मिश्र के 7 अप्रैल को कक्कड़ के घर के बाहर दिखाई देने पर निर्वाचन आयोग के समक्ष आपत्ति जताई है. प्रदेश भाजपा प्रवक्ता उमेश शर्मा ने कहा, “संबंधित वाकये का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है. इसके बाद हमने आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की है. हमारा सीधा आरोप है कि एसएसपी ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के इशारे पर छापा स्थल पर पहुंचकर कक्कड़ के खिलाफ चल रही आयकर जांच में बाधा उत्पन्न करने की कोशिश की.”