नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने शनिवार को मध्यप्रदेश के खंडवा के कांग्रेस उम्मीदवार के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए एक नोटिस जारी किया है. कांग्रेस उम्मीदवार अरुण सुभाषचंद्र यादव को पार्टी के प्रस्तावित न्याय योजना का नामांकन फार्म वितरित करने और भरवाने के लिए नोटिस जारी किया गया है. यहां रविवार को मतदान होने वाला है. यादव को 24 घंटे के अंदर जवाब दाखिल करने के लिए कहा गया है.

चुनाव आयोग के बयान के अनुसार, “प्रथमदृष्टया पता चला है कि उक्त कार्य(न्याय नामांकन पत्रों के वितरण और भरवाने का काम) खंडवा से कांग्रेस उम्मीदवार अरुण सुभाषचंद्र यादव द्वारा किया गया या करवाया गया या फिर उनकी जानकारी में किया गया. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक सदस्य ने तीन मई को एक शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि मध्यप्रदेश के तीन जिलों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यादव की तस्वीर और पार्टी चिह्न् वाले न्याय योजना के नामांकन फार्म का अवैध रूप से वितरण किया गया और इसे भरवाया गया.

केरल में कुछ देरी से घोषित होंगे लोकसभा के नतीजे, आयोग ने बताई ये वजह

24 घंटे के अंदर जवाब दाखिल करने को कहा
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी जांच के बाद इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि यादव के विरुद्ध मामला बनता है, क्योंकि उनके सहयोगी सुधानसिंह ठाकुर ने खंडवा जिले में फार्म का वितरण किया. ठाकुर के विरुद्ध पांच मई को एक एफआईआर दर्ज किया गया. यादव के खिलाफ दस्तावेजी सबूतों की जांच करने के बाद, चुनाव आयोग ने उनसे एक दिन के अंदर जवाब दाखिल करने को कहा और ऐसा न करने पर आयोग बिना उन्हें सूचित किए निर्णय लेगा. कांग्रेस ने सत्ता में आने की स्थिति में अपनी न्याय योजना के अंतर्गत गरीब लोगों को 72,000 रुपये प्रतिवर्ष देने का वादा किया है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com