लोकसभा चुनाव में मिली बुरी हार के बाद कांग्रेस पार्टी खुद को संभालने की जद्दोजहद करती दिख रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने खुद इस हार की जिम्मेवारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की है. वैसे पार्टी उनका इस्तीफा स्वीकार करने के मूड में नहीं है. इस बीच राहुल गांधी और उनकी टीम को इस हार के झटके से उबारने के लिए पार्टी एक मेगा प्लान पर काम कर रही है. इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने राहुल को सहयोग करने के लिए वर्किंग प्रेसिडेंट (कार्यकारी अध्यक्ष) का कॉन्सेप्ट लाया है. माना जा रहा है कि यह कार्यकारी अध्यक्ष गांधी परिवार के बाहर का कोई व्यक्ति हो सकता है, क्योंकि पिछले दिनों कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में राहुल गांधी ने साफ तौर पर कहा था आपको गांधी परिवार से बाहर के व्यक्ति को पार्टी प्रमुख बनाने पर विचार करना चाहिए.

इस्तीफे पर अड़े राहुल गांधी को मनाने के लिए पार्टी ने उनको संगठनात्मक बदलाव करने की पूरी छूट दे दी है. संभवतः राहुल गांधी एक ऐसी समिति का गठन करने वाले हैं जो चुनावी हार की समीक्षा कर एक रिपोर्ट तैयार करे और उस रिपोर्ट पर सबके सामने कार्यसमिति की बैठक में चर्चा हो. अभी तक ऐसी रिपोर्ट कार्यसमिति के समक्ष नहीं आती थी.

रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी मुख्यायल 24 अकबर रोड से कार्यकारी अध्यक्ष राहुल गांधी को सहयोग करने के साथ-साथ उनको दैनिक कार्यों से मुक्त कर सकता है. इस तरह राहुल गांधी के पास विभिन्न प्रदेशों में पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए ज्यादा समय मिलेगा. माना जा रहा है कि गांधी परिवार से बाहर के किसी व्यक्ति को कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने से एक सकारात्मक संदेश भी जाएगा. क्योंकि अभी कांग्रेस पार्टी के शीर्ष पर गांधी परिवार का ही दबदबा है. राहुल गांधी अध्यक्ष हैं जबकि उनकी मां सोनिया गांधी कांग्रेस संसदीय दल की प्रमुख हैं जबकि बहन प्रियंका गांधी महासचिव हैं. वैसे इस बारे में अंतिम फैसला राहुल गांधी को लेना है.

गौरतलब है कि 1983 में दक्षिण भारत में कांग्रेस को मिली बुरी हार के बाद इंदिरा गांधी ने कमलापति त्रिपाठी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया था. इसके बाद 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद पार्टी की कमान राजीव गांधी के हाथों में आ गई. कमलापति त्रिपाठी के साथ राजीव के संबंध मधुर नहीं रहे और तत्कालीन प्रधानमंत्री ने दिग्गज कांग्रेसी अर्जुन सिंह को पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया था.