चंडीगढ़: पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता नवजोत कौर सिद्धू लोकसभा चुनाव में चंडीगढ़ से टिकट नहीं मिल पाने की निराशा छिपा नहीं सकीं. पार्टी की ओर से उम्मीदवार उतारने से पहले ही उन्होंने जनसभाएं शुरू कर दी थीं. कांग्रेस ने चंडीगढ़ से पूर्व केन्द्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल को उम्मीदवार बनाने का ऐलान किया है. वहीं, चंडीगढ़ लोकसभा सीट से कांग्रेस की उम्‍मीदवारी के लिए आवेदन करने वाली नवजोत कौर ने कहा, पवन बंसल जी एक सीनियर लीडर हैं. मैं पार्टी के निर्णय का सम्‍मान करती हूं और उम उनकी जीत के लिए काम करेंगे. मेरा विजन इस क्षेत्र के युवाओं के लाभ के लिए था. दुर्भाग्‍य से ये नहीं हो सका.

कांग्रेस को उन लोगों से हमदर्दी जो तिरंगा जलाते हैं और भारत के टुकड़े करने के नारे लगाते हैं: PM मोदी

नवजोत कौर ने बुधवार को कहा, “मुझे खुशी होती अगर वे उस महिला का सम्मान करते जो अपने व्यक्तिगत कार्यों को दिखाने का प्रयास कर रही है.” कौर ने कहा कि उन्होंने खुद को राजनीति के प्रति समर्पित करने के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ का अपना पेशा भी छोड़ दिया. उनसे पूछा गया था कि क्या वह पार्टी के फैसले से निराश हैं.

पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती और एनसी के हसनैन मसूदी ने अनंतनाग सीट से नामांकन फॉर्म भरा

सीतामढ़ी सीट पर जेडीयू ने डॉ. वरुण कुमार की जगह सुनील कुमार पिंटू को उतारा

पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर और पूर्व केन्द्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले चंडीगढ़ से चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी पेश की थी. इस सीट पर 2014 में भाजपा उम्मीदवार किरण खेर को जीत हासिल हुई थी. अमृतसर (पूर्व) से पूर्व भाजपा विधायक कौर ने कहा, लेकिन ठीक है. पार्टी इसी तरह काम करती है. नवजोत कौर ने ये बातें यहां अपने समर्थकों के साथ एक सभा के दौरान कहीं. चंडीगढ़ में 19 मई को मतदान होना है.

अखिलेश, मुलायम हैं बीजेपी के एजेंट, मैं तो आम्‍बेडकर का एजेंट हूं: चंद्रशेखर आजाद