वर्धा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि जो हिंदुस्‍तान के हीरो हैं, उनकी जरूरत है या जो पाकिस्‍तान में हीरो बन गए हैं उनकी? आपको सबूत चाहिए या देश के सपूतों पर गर्व? ये वही कांग्रेस- एनसीपी का गठबंधन है, जिसने आजाद मैदान में भीड़ को शहीदों के स्‍मारक को जूते से रौंदने की छूट दी थी. पीएम मोदी ने कहा कि इस देश के करोड़ों लोगों पर हिंदू आतंकवाद का दाग लगाने का प्रयास कांग्रेस ने किया है. हजारों साल के इतिहास में हिंदू कभी आतंकवाद फैलाए ऐसी एक भी घटना है क्‍या? अंग्रेज इतिहासकारों ने भी कभी हिंदू हिंसक हो सकता है, इस बात का जिक्र तक नहीं किया है.

राष्‍ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख शरद पवार पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी उनके हाथों से निकल रही है और पार्टी में अंदरूनी कलह है. महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना गठबंधन के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत हुए मोदी ने यहां एक जनसभा में कहा कि पवार ने आगामी लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला इसलिए किया क्योंकि उन्हें पता चल गया कि स्थिति उनके अनुकूल नहीं है.

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर शांतिप्रिय हिंदू समाज को आतंकवादी बताने का भी आरोप लगाया. मोदी ने कहा कि कांग्रेस बहुसंख्यक आबादी वाली सीटों पर उम्मीदवार उतारने से डर रही है. ‘शौचालयों के चौकीदार’ वाली टिप्पणी पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ”आपकी गालियां मेरे लिए गहने के समान हैं.”

मोदी ने कहा, पवार ने प्रतिकूल स्थिति को भांपते हुए चुनाव न लड़ने का फैसला किया. राकांपा में अंदरूनी कलह है, पार्टी पवार के हाथों से फिसल रही है. पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान में आतंकवादी शिविरों पर हवाई हमले के बाद राजग सरकार की आलोचना को लेकर विपक्षी पार्टियों पर बरसते हुए उन्होंने लोगों से पूछा कि वे भारत के नायकों को चाहते हैं या उन्हें जो पड़ोसी देश में नायक बन गए हैं.

पीएम ने कहा, जब मैं शौचालय का चौकीदार बनता हूं तब मैं हिंदुस्‍तान की करोड़ों माताओं और बहनों की इज्‍जत का भी चौकीदार बनता हूं. मैं इस इज्‍जतघर/ शौचायल का चौकीदार हूं और मुझे इस पर गर्व है.

मोदी ने इसरो के पीएसएलवीसी45 के लॉन्‍च होने पर कहा कि सबसे पहले मैं अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को और इस इसरों को उनकी उपलब्‍ध‍ि के लिए बधाई देना चाहूंगा. पांच देशों के दो दर्जन से ज्‍यादा सैटेलाइट स्‍पेस में भेजे गए हैं. उन्‍होंने कहा पहले जब सैटेलाइट लॉन्‍च होते तो कुछ ही लोग इसे देश पाते थे. मोदी ने कहा कि साइंस और हमारे वैज्ञानिकों के प्रति सम्‍मान का भाव जगाने के लिए हमने एक महत्‍वपूर्ण निर्णय लिया कि जब भी ऐसा होगा तो आम लोगों को भी बैठने के लिए सीटों की व्‍यवस्‍था की जाएगी.