तिरुवनंतपुरम: कांग्रेस नेता एवं तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर को यहां सोमवार को एक मंदिर में ‘तुलाभरम’ रस्म निभाते समय सिर पर चोट लग गई.
पार्टी सूत्रों के अनुसार, तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से तीसरी बार जीत की उम्मीद लगा रहे थरूर को सिर पर चोटें आई हैं, जिसके लिए उन्हें छह टांके लगाए गए हैं. तराजू का हुक वाला हिस्सा गिर गया और उनके सिर पर लगा. उनके पैर में भी मामूली चोट आई है. टेलीविजन चैनलों ने अपनी रिपोर्ट में पूर्व केंद्रीय मंत्री को चोटिल सिर के साथ कार में बैठते हुए दिखाया और उनका कुर्ता खून से सना दिख रहा है.

SC ने कहा, राफेल मामले में राहुल गांधी ने टिप्‍पणियां गलत तरीके से शीर्ष अदालत के मत्‍थे मढ़ी, दें स्‍पष्‍टीकरण

‘तुलाभरम’ एक रस्म है, जिसमें कोई व्यक्ति फूल, अनाज, फल और ऐसी ही वस्तुओं के साथ तराजू में खुद को तौलता है और उसके वजन के बराबर वस्तुएं दान दी जाती हैं. सोमवार को मलयालम नव वर्ष (विशु) के अवसर पर थरूर ने अपना चुनाव प्रचार अभियान शुरू करने से पहले सुबह यहां देवी मंदिर में इस रस्म को निभाया.

चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई: योगी आदित्यनाथ 72 घंटे और मायावती 48 घंटे तक नहीं कर पाएंगे प्रचार

थरूर के साथ उनके परिवार के सदस्य और विधायक वी एस शिवकुमार समेत पार्टी के नेता तथा कार्यकर्ता मौजूद थे. पार्टी सूत्रों ने बताया कि जब थरूर तराजू के एक पलड़े पर बैठे थे तो उसका हुक गिर गया और उनके सिर पर आ लगा. सूत्रों ने बताया कि उन्हें इलाज के लिए त्रिवेंद्रम मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया.

जम्मू कश्मीर: पत्‍थरबाजों ने पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के काफिले पर किया पथराव