नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्यूनतम आय गारंटी योजना की घोषणा कर दी है. राहुल की इस योजना को लोकसभा चुनाव से पहले मास्टरस्ट्रोक माना जा रहा है. राहुल गांधी ने इस योजना को दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे प्रभावशाली योजना करार दिया है. राहुल ने कहा कि देश में हर व्यक्ति की न्यूनतम आय योजना के लिए वह पिछले छह माह से दुनिया के सबसे अच्छे अर्थशास्त्रियों के साथ चर्चा कर रहे थे. ये हम पूरी तरह सफलता के साथ लागू करके दिखाएंगे. राहुल ने ये भी कहा कि कांग्रेस ने पहले मनरेगा से गरीबी को दूर किया और अब इस योजना के तहत पूरे देश से गरीबी को आउट कर दिया जाएगा. Also Read - बिहार: कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय से 8 लाख रुपए बरामद, इनकम टैक्स अफसरों ने रणदीप सिंह सुरजेवाला से की पूछताछ

ये है न्यूनतम आय गारंटी योजना
लोकसभा चुनाव के बाद अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो देश के 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपए दिए जाएंगे. इस तरह इस योजना से हर परिवार में औसतन पांच लोगों के हिसाब से करीब 25 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचेगा. ये पैसा सीधे लोगों के बैंक खाते में जाएगा. पहले इस योजना का पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा. इसके बाद पूरी योजना लागू की जाएगी. Also Read - वादा तेरा वादा.....बिहार चुनाव में लगी वादों की झड़ी, किस पार्टी ने जनता से क्या की है प्रॉमिस, जानिए

आय इस तरह होगी 12 हजार रुपए प्रति माह
बताई गई योजना के अनुसार 12000 रुपए महीने से नीचे कमाने वाले परिवार इस योजना के दायरे में आ जाएंगे. मान लीजिए कि किसी एक व्यक्ति की आय 5 हजार है तो उसे 7 हजार रुपए दिए जाएंगे. अगर किसी की आय 6 हजार है तो उसे 6 हजार दिए जाएंगे. अगर कोई व्यक्ति अपने परिवार के लिए 2 हजार रुपए प्रतिमाह ही कमा पाता है तो उसे 10 हजार रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे. अगर कोई बिलकुल बेरोजगार है तो वह 12 हजार रुपए तक पाएगा. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: तेजस्वी की चाल में उलझा जदयू, 77 सीटों पर सीधा मुकाबला

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस का न्यूनतम आय का वादा, गरीब परिवारों को मिलेंगे सालाना 72 हजार रुपये

तब की जाएगी मदद जब तक…
कांग्रेस की योजना के अनुसार, देश में किसी भी परिवार की आय 12 हजार रुपए प्रति माह से कम नहीं होगी. ये मदद उसे तब तक दी जाएगी, जब तक उसकी अपनी निजी आय 12 हजार या इससे अधिक नहीं हो जाती. मदद के बीच जैसे ही परिवार की निजी आय 12 हजार रुपए प्रति माह से ऊपर जाएगी, तो फिर ये योजना उसके लिए नहीं होगी. वो इस योजना के दायरे से बाहर हो जाएगा. कांग्रेस ने लक्ष्य रखा है कि देश में कोई भी परिवार ऐसा नहीं रहे जिसके पास हर माह 12 हजार रुपए न आते हों. फिर या तो वह खुद कमाए और अगर नहीं कमा पा रहा है तो न्यूनतम गारंटी योजना से उसकी आर्थिक मदद की जाएगी.

‘सब कुछ तय कर लिया गया है’
इस योजना का एलान करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ‘पिछले पांच वर्षों में देश की जनता को बहुत मुश्किलें सहनी पड़ी हैं. हमने निर्णय लिया और हम हिंदुस्तान के लोगों को न्याय देने जा रहे हैं. यह न्याय न्यूनतम आय गारंटी है. ऐसी योजना दुनिया में कहीं नहीं है.’ ये पैसा उनके बैंक खाते में सीधा डाल दिया जाएगा.’ राहुल ने कहा, ‘अगर मोदी जी सबसे अमीर लोगों को पैसा दे सकते हैं तो कांग्रेस भी सबसे गरीब लोगों को पैसा देगी.’ राहुल ने इसे गरीबी पर आखिरी हमला बताते हुए कहा कि यह योजना चरणबद्ध तरीके से चलाई जाएगी. राहुल ने कहा कि सब कुछ तय कर लिया गया है.