सिद्धार्थनगर/गोरखपुर/श्रावस्ती: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर तंज कसते हुए कहा कि ‘कांग्रेस की शहजादी’ कहती हैं कि वह अपनी पार्टी का नाम बदलकर ‘वोटकटवा पार्टी’ कर देंगी. योगी ने सिद्धार्थनगर के इटवा (डुमरियागंज लोकसभा सीट) में एक चुनावी जनसभा में कहा, ‘कांग्रेस की शहजादी कहती हैं कि वो अपनी पार्टी का नाम बदलकर वोटकटवा पार्टी कर देंगी.’ Also Read - UP: CM बनने के बाद पहली बार AMU पहुंचे योगी आदित्य नाथ, कोरोना पर की अहम बैठक

योगी ने कहा, ‘कांग्रेस की शहजादी झूठ बोलने में शहजादे से आगे निकल गईं.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस जो कभी देश की सबसे बड़ी पार्टी हुआ करती थी, आज वो वोटकटवा पार्टी बन कर रह गई है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधते हुए योगी बोले, ‘बुआ-बबुआ का रिश्ता 23 मई तक के लिए है, 23 मई के बाद बुआ कहेगी-बबुआ गुंडों का सरताज है तो बबुआ कहेगा- बुआ भ्रष्टाचार की प्रतिमूर्ति हैं.’ Also Read - Oxygen issue : बीजेपी ने पूछा, दिल्‍ली सरकार क्‍यों सोचती हैं कि केंद्र भेदभाव कर रहा है?

योगी ने श्रावस्ती की चुनावी जनसभा में कहा, ‘आज जो भी रिश्तेदारी चल रही है, वो सब लूट की है. 23 तारीख के बाद बुआ-बबुआ के बीच खूनी संघर्ष होने वाला है. उन्होंने कहा कि 23 मई को जब एक बार फिर मोदी सरकार आएगी तो हर किसान को छह हजार रुपए सालाना मिला करेगा. Also Read - विधानसभा चुनाव में करारी हार की समीक्षा के लिए समिति बनाएगी कांग्रेस

मुख्यमंत्री ने कहा, पिछली सरकारों में बिजली की जाति होती थी, बिजली का मजहब होता था, होली, दीपावली को बिजली नहीं लेकिन ईद-मोहर्रम पर बिजली मिलती थी. हमने इसे बदला और अब सब त्योहारों पर बिजली रहती है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की शहजादी’ कहती हैं कि वह अपनी पार्टी का नाम बदलकर ‘वोटकटवा पार्टी’ कर देंगी.

मुख्यमंत्री ने यह बात प्रियंका के उस बयान के संदर्भ में कही जिसमें उन्होंने टिप्पणी की थी कि कांग्रेस ने उत्तर में कुछ जगहों पर ऐसे उम्मीदवार उतारे हैं जहां वे भाजपा के वोट काटेंगे. उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार बनने के बाद हमने अवैध बूचड़खाने बंद कराए.

योगी ने सुबह गोरखपुर में ग्राम प्रधान सम्मेलन को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि गांवों में भारत की आत्मा बसती है. गांवों के विकास के बिना देश का चहुंमुखी विकास नहीं हो सकता. मजबूत ग्राम पंचायतें ही मजबूत देश बनाएंगी. उन्होंने कहा कि आजादी के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महात्मा गांधी के ‘ग्राम स्वराज’ के सपने को पूरा किया है. पहली बार देश में पंचायती राज असल मामले में कार्यान्वित हुआ है.